Home / हेल्थ-फिटनेस / Remedies for snoring: इन चीज़ों की मदद से करें खर्राटों का प्राकृतिक उपचार !

Remedies for snoring: इन चीज़ों की मदद से करें खर्राटों का प्राकृतिक उपचार !

खर्राटे एक परेशान कर देने वाली सिचुएशन होती है, लेकिन सबसे ज़रूरी बात यह है की खर्राटे लेना ख़राब स्वास्थ्य का संकेत होता है । ये कई वजहों से हो सकता है और ज़्यादा वजन होना उनमें से एक है। अगर आपके हल्के फुल्के खर्राटे आते हैं, तो इसमें कोई समस्या की बात नहीं है। खर्राटे, लेने की वजह से आपको हार्ट की बीमारी होने का खतरा बढ़ जाता है और इसीलिए आपको इस पर तुरंत ध्यान देने की ज़रूरत है । खर्राटे से बचने के लिए, बाजार में उपलब्ध अजीब गैजेट्स का इस्तेमाल करने से अच्छा है के आप कुछ प्रभावी प्राकृतिक तरीको का इस्तेमाल करें और इसीलिए आज के लेख में हम आपको कुछ ऐसी चीज़ों के बारे में बताएँगे जिनका सेवन कर के आप खर्राटों का प्राकृतिक उपचार कर सकते हैं।

लक्षण :

खर्राटों का प्राकृतिक उपचार

खर्राटे अक्सर एक स्लीप डिसऑर्डर से जुड़े होते हैं जिसे ऑब्सट्रक्टिव स्लीप एपनिया (ओएसए) कहा जाता है। हलाकि, सभी खर्राटे ओएसए की वजह से नहीं आते है, लेकिन अगर खर्राटे के साथ इनमे में से कोई भी लक्षण है, तो यह ओएसए है और इसके लिए आपको डॉक्टर से कंसल्ट करने की ज़रूरत है :

  • नींद के दौरान सांस का रुक जाना
  • दिन में बहुत नींद आना
  • कंसन्ट्रेट करने में दिक्कत आना
  • सुबह सिरदर्द होना
  • जागने पर गले में खराश
  • बैचनी होना
  • रात को हाँफते हुए उठना
  • हाई ब्लड प्रेशर
  • रात में सीने में दर्द होना
  • बहुत तेज खर्राटे आना

खर्राटों का प्राकृतिक उपचार :

पाइनएप्पल, केला और संतरा

खर्राटों का प्राकृतिक उपचार

मेलाटोनिन एक हार्मोन होता है, जिसकी वजह से हमें नींद आती है और इस हॉर्मोन को पाने का सबसे अच्छा तरीका यह होता है के आप उन चीज़ों का सेवन करें जिनमें इसकी ज़्यादा मात्रा होती है। अनानास, केले और संतरे में मेलाटोनिन ज़्यादा मात्रा में पाया जाता है और यह खर्राटों को रोकने में काफी मदद करता है।

हल्दी वाला दूध

खर्राटों का प्राकृतिक उपचार

हल्दी हमारे डेली डाइट का एक ज़रूरी हिस्सा है। नाक और गले के टिश्यू की सूजन को कम करने में हल्दी एकमहान भूमिका निभाती है। उबलते दूध में एक चम्मच हल्दी मिलाएं और सोने से पहले इसे गर्म कर के पिएं।

अदरक और शहद की चाय

खर्राटों का प्राकृतिक उपचार

अदरक एक सुपरफूड है जो लगभग कुछ भी ठीक कर सकता है। अदरक में एंटी इंफ्लेमेटरी और एंटी फंगल एजेंट होते हैं जो टॉन्सिल्स को काम करते है और खर्राटों से राहत देते है। खर्राटों की समस्या से छुटकारा पाने के लिए अदरक और शहद की चाय दिन में दो बार ज़रूर पियें।

शुद्ध जैतून का तेल

खर्राटों का प्राकृतिक उपचार

अगर आप सोने से पहले कुछ शुद्ध जैतून के तेल का सेवन करते हैं तो यह आपको खुल कर सास लेने में मदद करेगा। यह सोते वक़्त गले की मसल्स को बंद होने से रोकता है और इसी वजह से आप खर्राटे लेने से बच सकते हैं।

सोया दूध

खर्राटों का प्राकृतिक उपचार

गाय के दूध के कुछ प्रोटीन पाए जाते हैं जिनकी वजह से आपके शरीर में गंभीर एलर्जिक रिएक्शन होते हैं , जो कंजेशन को बढ़ा देते हैं और नाक को बंद कर देते हैं और इसीलिए खर्राटों भी बढ़ जाते हैं। आप खर्राटों से राहत पाने के लिए गाय के दूध की जगह सोया दूध का इस्तेमाल करें।

हमने आपको कुछ सबसे प्रभावशाली चीज़ों के बारे में बताया है, जिनकी मदद से आप खर्राटों का प्राकृतिक उपचार कर सकते हैं। आप इन ज़बरदस्त चीज़ो का सेवन ज़रूर करें और पाएं खर्राटों से छुटकारा।अपनी लाइफस्टाइल और डाइट में कुछ बदलाव करने से आपको खर्राटे की प्रॉब्लम को दूर करने में काफी मदद मिलेगी। लेकिन, अगर बदलाव करने के बाद भी आपकी प्रॉब्लम गंभीरता के साथ बनी रहती है, तो आप फ़ौरन डॉक्टर से कंसल्ट करें।

Check Also

पति की जिंदगी नर्क हो जाती है जब पत्नी करने लगे ये 3 गलतियां

मनुष्य के जीवन को सुखी बनाने के लिए बहुत से विद्वानों ने कुछ बातें बताई ...