Home / मनोरंजन / HEMA MALINI ने आज तक खर्च नहीं की है अपनी एक फिल्म की फीस, पीछे है बेहद खास वजह।

HEMA MALINI ने आज तक खर्च नहीं की है अपनी एक फिल्म की फीस, पीछे है बेहद खास वजह।

अभिनेत्री हेमा मालिनी का नाम हिन्दी सिनेमा के इतिहास में सबसे खूबसूरत और सफल अभिनेत्री के तौर पर दर्ज है। 72 साल की हो चुकीं हेमा मालिनी के लिए लोगों की दीवानगी आज भी कम नहीं हुई हैं। ऑडिएंस के बीच ड्रीम गर्ल हेमा मालिनी का चार्म ऐसा है कि फिल्ममेकर्स आज भी उन्हें अपनी फिल्मों में साइन करने के लिए बेकरार रहते हैं।

हेमा मालिनी के फिल्मी करियर से जुड़े कई किस्से आपने पढ़े और सुने होंगे। लेकिन क्या आपने कभी ये सुना है कि हेमा मालिनी के करियर से जुड़ी एक फिल्म ऐसी भी है जिसकी फीस उन्होने आजतक संभाल कर रखी है। कभी उन्होने उस फीस को खर्च करने का ख्याल तक मन में नहीं लाया। और इस फीस का सीधा कनेक्शन हेमा मालिनी के कृष्ण-प्रेम से जुड़ा है। आज यही राज़ हम आपके सामने खोलने जा रहे हैं।

दरअसल, ये किस्सा है साल 1979 का…तब तक हेमा मालिनी लाल पत्थर, सीता और गीता, शोले, त्रिशूल, राजा जानी और चरस जैसी ब्लॉकबस्टर हिट फिल्मों के ज़रिये इंडस्ट्री की पॉपुलर एक्ट्रेस बन चुकी थीं। हेमा मालिनी को अपनी फिल्म में साइन करने के लिए हर फिल्ममेकर बेकरार रहता था। यहां तक फिल्ममेकर्स उन्हें मुंहमांगी फीस देने के लिए भी तैयार रहते थे।

ऐसी ही चाहत मशहूर फिल्म प्रोड्यूसर प्रेमजी की भी थी। जाने-माने फिल्म प्रोड्यूसर प्रेमजी लंबे वक्त से हेमा मालिनी के साथ फिल्म बनाना चाहते थे। लेकिन उनकी ये चाहत पूरी नहीं हो पा रही थी। एक दिन प्रेमजी कुछ स्क्रिप्टस लेकर हेमा मालिनी के घर पहुंच गए। लेकिन हेमा मालिनी को किसी भी फिल्म की कहानी कुछ खास पसंद नहीं आई। ऐसे में प्रेमजी को सीधा मना करने की बजाए हेमा मालिनी ने बात को टालने के लिए कह दिया कि अगर कृष्ण दीवानी ‘मीरा’ पर कोई फिल्म बनाएंगे तो वह जरुर फिल्म में काम करेंगी।

हेमा मालिनी का कृष्ण प्रेम जग ज़ाहिर है। प्रेमजी भी ये अच्छे से जानते थे कि अगर वह मीरा पर लिखी कहानी लेकर हेमा मालिनी के पास जाएगें, तो वह मना नहीं कर पाएंगी। लिहाज़ा प्रेमजी सीधा लेखक गुलज़ार के पास पहुंच गए और उन्हें मीरा पर कहानी लिखने के लिए कह दिया।

कुछ ही वक्त बाद जब प्रेमजी हेमा मालिनी के पास अपनी फिल्म ‘मीरा’ की स्क्रिप्ट लेकर गए तो हेमा मालिनी के पास हां करने के अलावा कोई दूसरा विकल्प ही नहीं बचा था। जैसे तैसे फिल्म की शूटिंग शुरु हुई तो मामला फिल्म के बजट पर आकर रुक गया।

फिल्म के ओवर बजट हो जाने की वजह से शूटिंग बीच में ही रुक गई। जब हेमा मालिनी को इस बात का पता चला तो उन्होने प्रेमजी को बुलाकर कहा कि वह यह फिल्म पैसों के लिए नहीं बल्कि कृष्ण प्रेम के लिए कर रही हैं। ऐसे में वह फीस में उन्हें दो देंगे वह ले लेंगी। बस फिल्म की शूटिंग शुरु कीजिए।

तब प्रेमजी ने फैसला किया कि वह हेमा मालिनी को प्रति दिन के हिसाब से फीस देंगे। हेमा मालिनी ने उन रुपयों को भगवान कृष्ण के प्रसाद के रूप में लिया और फीस का एक रुपया भी खर्च नहीं किया और आज तक उन लिफाफों को संभाल कर रखा है। बता दें, विनोद खन्ना और हेमा मालिनी स्टारर ये फिल्म फ्लॉप रही थी, लेकिन फिल्म को क्रिटिक्स से काफी सराहना मिली थी।

Check Also

मां को बेहद मिस कर रही हैं शहनाज गिल, मदर्स डे पर शेयर किया खास मैसेज

मदर्स डे के मौके पर हर कोई अपनी मां पर प्यार लुटा रहा है। सभी ...