Home / धर्म / Chhath Puja 2020: रामायण और महाभारत में भी छठ पूजा का बखान, जानिए इन ग्रंथों में क्या कही है महिमा?

Chhath Puja 2020: रामायण और महाभारत में भी छठ पूजा का बखान, जानिए इन ग्रंथों में क्या कही है महिमा?

हिंदू पंचांग के अनुसार छठ पर्व की शुरुआत कार्तिक महीने के चतुर्थी से सप्तमी तक होती है. चार दिनों तक चलने वाले अस्था का महापर्व 18 नवंबर से नहाय खाय के साथ शुरू हो जाएगा. इस पर्व की तैयारियां कुछ दिन पहले से ही शुरू हो जाती है. बिहार, झारखंड और उत्तर प्रदेश का सबस बड़ा त्योहार है. कब हुई छठ पूजा की शुरुआत. आइए आपको बताते हैं कि कैसे हुई इस पर्व को मनाने की शुरुआत.

छठ पर्व की शुरुआत महाभारत के समय से ही हो गई थी. एक कथा के अनुसार महाभारत में जब पांडव अपना सारा राजपाट जुए में हार गए थे. तब द्रौपदी ने चार दिनों का व्रत किया था. ऐसी मान्यता है कि कर्ण ने छठ पूजा की शुरुआत की थी.

दानवीर कर्ण ने इस त्योहार पर सूर्य भगवान की उपासन की थी. उन्होंने भगवान सूर्य से अपना राजपाठ वापस मांगा था. तब से ही एक मान्यता प्रचलित है कि छठ पर्व की शुरुआत महाभारत काल में कर्ण ने की थी.

रामायण में भी छठ पूजा का जिक्र

एक पौराणिक कथा के अनुसार, भगवान राम को रावण वध के पाप से बचाने के लिए ऋषि मुनियों के आदेश पर राजसयू यज्ञ का फैसला लिया. इसके बाद ऋषि मुग्दल को बुलाया गया था लेकिन मुग्दल ने भगवान राम और माता सीता को अपने ही आश्रम में आने का आदेश दिया. मां सीता ने छठ पूजा की शुरुआत

की.

Check Also

इस मंदिर में भगवान शिव का खंडित त्रिशूल, यहीं हुआ था देवी पार्वती का जन्म

यह तो हम सभी जानते हैं क‍ि भगवान से संबंध‍ित क‍िसी भी खंड‍ित वस्‍तु को ...