Home / मनोरंजन / Birthday Special : सिनेमाई जादूगर थे सत्यजीत रे, उनकी इन 5 फिल्मों ने बदला भारतीय सिनेमा का चेहरा

Birthday Special : सिनेमाई जादूगर थे सत्यजीत रे, उनकी इन 5 फिल्मों ने बदला भारतीय सिनेमा का चेहरा

सत्यजीत रे (Satyajit Ray) भारतीय सिनेमा के एक ऐसे कलाकार रहे हैं जिन्होंने इस इंडस्ट्री की मुलाकात दुनियाभर से करवाई थी. इस काम के लिए भारत सरकार ने उन्हें पद्मश्री से पद्म विभूषण से सम्मानित भी किया. ये सिलसला यहीं नहीं रुका उन्होंने ऑस्कर भी जीता और दादा साहेब फाल्के पुरस्कार भी अपने नाम किया. जिसके नाम में ही जीत हो उससे हम उम्मीद भी यही की जानी चाहिए. इसके अलावा उन्होंने 32 राष्ट्रीय फिल्म पुरस्कारों को और अपने नाम किया. उन्होंने भारत में रहकर आर्ट फिल्में बनाई जो देश और दुनियाभर में बहुत पसंद की. आज उनके जन्मदिन के मौके पर रूबरू होते हैं उनकी वो 5 दमदार फिल्मों से जिन्होंने खूब प्रसिद्धि हासिल की.

अपू ट्रायोलॉजी – इस फिल्म को तीन भागो में बनाया गया था, इस सीरीज का पहला भाग पत्थर पंचली दूसरा भाग अपराजितो और तीसरा भाग द वर्ल्ड ऑफ अपू था. फिल्म के तीनों भागों को देशभर में काफी पसंद किया गया था. इस फिल्म से भारतीय सिनेमा के लिए अंतराष्ट्रीय कला छेत्र के भी दरवाजे खुल गए थे.

महानगर – इस फिल्म में सत्यजीत रे ने बड़ी खूबसूरती से बड़े शहरों की में रहने वाले लोगों के गुजर – बसर को दिखाया था. इसके साथ ही ये फिल्म ये भी बताती है कि किस तरह से बड़े शहर में रहने वाली महिलाएं ऑफिस में काम करने के साथ घर के काम भी बड़ी सहजता से करने में सक्षम होती हैं.

आगुंतक – ये फिल्म सत्यजीत रे  की आखिरी फीचर फिल्म थी. फिल्म में उत्पल दत्त ने अभिनय किया था. फिल्म की स्क्रिप्ट, डायलॉग और सीन्स बहुत ही शानदार थे, अपने बेहतरीन अभिनय से उत्पल दत्त ने भी फिल्म में चार चांद लगा दिए.

चारूलता – इस फिल्म को अपने समय के आगे की माना जाता है. इस फिल्म में महिला के व्यभिचार और अकेलेपन को बहुत सहजता से बताती है. फिल्म में एक महिला के अकेलेपन को दिखाया गया है. फिल्म की कहानी ये है कि एक महिला अपने मेंटर से प्रेम में पड़ जाती है और मेंटर उनके पति का चचेरा भाई होता है.

शतरंज के खिलाड़ी – ये फिल्म हिंदी भाषा में बनाई गई सत्यजीत रे की एकलौती फिल्म थी. फिल्म की कहानी अवध के आखरी मुगल वाजिद अली शाह और उनके मंत्रियों की कहानी बताई गई जिनको शतरंज खेलने की जिद रहती है और वो इसे आनंदित हो कर खेलने के लिए महफूज जगाहों की तलाश करते रहते हैं. फिल्म में मुख्य किरदार अमजद खान, संजीव कुमार और सहीद जाफरी ने निभाया था.

Check Also

बॉलीवुड में डेब्यू करने जा रही हैं JUHI CHAWLA की बेटी JAHNAVI MEHTA, IPL की वजह से आई थीं सुर्ख़ियों में !

बॉलीवुड एक्ट्रेस जूही चावला 80 और 90 के दशक की फेमस अदाकारा रही हैं। जूही ...