Home / धर्म / सूर्य ग्रहण के समय दो ग्रह अस्त रहेंगे, साल का आखिरी ग्रहण कब लग रहा है

सूर्य ग्रहण के समय दो ग्रह अस्त रहेंगे, साल का आखिरी ग्रहण कब लग रहा है

सूर्य ग्रहण की घटना को महत्वपूर्ण माना जाता है. ज्योतिष शास्त्र के अनुसार जब सूर्य ग्रहण या चंद्र ग्रहण की स्थिति बनती है तो मेष से मीन राशि तक इसका प्रभाव देखने को मिलता है. इसके साथ ही देश दुनिया पर ग्रहण का प्रभाव पड़ता है.

सूर्य ग्रहण कब लगेगा?
पंचांग के अनुसार वर्ष 2021 में साल का आखिरी सूर्य ग्रहण 04 दिसंबर 2021 शनिवार को कार्तिक मास की कृष्ण पक्ष की अमावस्या तिथि को लग रहा है. इस वर्ष दो सूर्य ग्रहण का योग बना है. जिसमें से एक सूर्य ग्रहण बीते 10 जून 2021 को लग चुका है. अब साल के आखिरी सूर्य ग्रहण का लोगों को इंतजार है.

सूर्य ग्रहण और सूतक काल
04 दिसंबर 2021 को लगने वाले सूर्य ग्रहण के दौरान सूतक नियमों का पालन नहीं किया जाएगा. इस सूर्य ग्रहण को उपछाया ग्रहण माना जा रहा है. सूतक काल का नियम उसी दशा में पालन किया जाता है जब ग्रहण पूर्ण हो. जब ग्रहण आंशिक या उपछाया होता है तो सूतक काल के नियमों का पालन करना आवश्यक नहीं माना गया है.

सूर्य ग्रहण के समय ग्रहों की स्थिति
सूर्य ग्रहण के समय अन्य ग्रहों की स्थिति को भी महत्वपूर्ण माना गया है. विशेष बात ये है सूर्य ग्रहण के ठीक एक दिन बाद यानि 05 दिसंबर 2021 को मंगल ग्रह का वृश्चिक राशि में गोचर होगा. यानि मंगल का राशि परिवर्तन देखने को मिलेगा. इस दिन चंद्रमा और बुध ग्रह अस्त रहेंगे. जबकि राहु और केतु अपने स्वभाव के अनुसार वक्री रहेंगे. इस दिन अन्य ग्रहों की स्थिति इस प्रकार रहेगी.

वृश्चिक राशि में होगी बड़ी हलचल
सूर्य ग्रहण के समय वृश्चिक राशि में चार ग्रहों की युति बन रही है. इस दिन बुध और सूर्य से बुधादित्य योग बनेगा. लेकिन केतु और चंद्रमा से ग्रहण भी योग भी बन रहा है. सूर्य ग्रहण का प्रभाव सबसे अधिक वृश्चिक राशि वालों पर ही देखने को मिलेगा. इसलिए विशेष सावधानी बरतने की जरूरत है. वृश्चिक राशि वाले धन और सेहत के मामले में सावधानी बरतें. इसके साथ ही गलत आदते और अहंकार आदि से दूरी बनाकर रखें.

Check Also

पितृ पक्ष में इंदिरा एकादशी व्रत से पितृ प्रसन्न होते हैं, जानें महत्व

 हिंदू धर्म में एकादशी व्रत को सभी व्रत में विशेष माना गया है. एकादशी व्रत ...