Home / हेल्थ-फिटनेस / सावधान एड्स नहीं बल्कि इस बीमारी से हो रही हैं दुनियाभर में ज्यादा मौत!

सावधान एड्स नहीं बल्कि इस बीमारी से हो रही हैं दुनियाभर में ज्यादा मौत!

एड्स का नाम सुनकर लोगो की हालत खराब हो जाती है जैसे की किसी ने उन्हें ढाई लाख वोल्टेज का झटका दे दिया हो। और लोग समझते है की इस बीमारी की वजह से उनकी मौत निश्चित है। लेकिन दुनियाभर में आलसी लोगों की संख्या तेजी से बढ़ रही है।इसी के साथ बीमारियों ने भी आलसी लोगों को अपने आगोश में लेना शुरु कर दिया है। इसी के चलते आलसी लोगों की मौत की संख्या भी तेजी से बढ़ रही है। जरूरत से ज्यादा आलसी होना इंसान की जान का दुश्मन बनता जा रहा है। आलसीपन की वजह से ही हर साल दुनियाभर में लाखों लोगों की मौत हो जाती है।

हैरान करने वाली बात ये हैं कि एचआईवी की तुलना में आलसी लोगों की संख्या ज्यादा है। यानि एसआईवी एड्स से अधिक आलसी लोगों की मौत ज्यादा होती है। बात दें कि आलसी लोगों को जीवन डायबिटीज, दिल के रोगियों एवं धूम्रपान करने वालों के मुकाबले ज्यादा जोखिमभरा है।

एक रिसर्च में यह बात सामने आई है कि जो लोग ज्‍यादा समय बैठे रहने में बिताते हैं उन्‍हें जान का खतरा बढ़ जाता है।एरिजोना स्‍टेट यूनिवर्सिटी स्थित मायो क्लिनिक की डायरेक्‍टर डॉक्‍टर जेम्‍स का मानना है कि बदलते दौर में अधिक समय तक बैठे रहना या आलस कई बीमारियों से अधिक खतरनाक है।

शोध में इसको लेकर कई तथ्‍य सामने आ रहे हैं। शोध में यह भी सामने आया है कि कैंसर और टाइप टू डायबिटीज समेत दिल के रोग से भी कहीं अधिक नुकसानदेह है। एक ताजा शोध में यह बात भी सामने आई है कि भारत में ही करीब छह करोड़ से अधिक लोग डायबिटीज से पीडि़त हैं। वहीं करीब आठ करोड़ लोग प्री डायबिटीक हैं। देश में किडनी खराब होने का सबसे बड़ा कारण भी डायबिटीक होना होता है।

Check Also

सर्दियों के मौसम में अक्सर लोगों को होती है खुजली की समस्या, जानें कैसे पाएं छुटकारा

सर्दियों के मौसम में अक्सर लोगों को खुजली की समस्या होने लगती है और ये ...