Home / हेल्थ-फिटनेस / सही समय पर ली गई तस्वीरे हमसे कुछ कहना चाहती है

सही समय पर ली गई तस्वीरे हमसे कुछ कहना चाहती है

किसी कभी फोटो लेना बहुत आसान होता है. तभी तो हर मोबाइल में कैमरा दिया जाता है अगर बात यदि अच्छी फोटो लेने की हो रही है तो फिर बड़े-बड़े के लिए भी यह मामला थोड़ा मुश्किल हो ही जाता है. शायद इसलिए बहेतरीन वाले कुछ उन्दा कैमरे भी बनाए गए हैं जो तकनीक के मामले में बहुत आगे होते हैं लेकिन कुछ व्यक्ति ऐसे होते है जो ऐसे कैमरे ले तो लेता है जिनको कैमरे के फीचर्स पता ही नहीं होते हैं.

आजकल तो कई फिल्टर्स और एडिटिंग सॉफ्टवेयर्स वाले कैमरे की भरमार है जिससे की तस्वीरों को खूबसूरत बनाना और भी आसान हो गया है. लेकिन वास्तविक फोटो तो वास्तविक ही होती है. इसके लिए केवल सही समय का ध्यान रखना होता है. ठीक समय पर सही तरीके से खींची गई तस्वीर कभी-कभी महान बन जाती है और बीना कुछ करे वह फोटो बहुत कुछ कहा जाती है.

कुछ ऐसी ही तस्वीरों को देखने के बाद कोई भी कह सकता है कि फोटो में कुछ तो बात है. आज हम आपके लिए ऐसी ही कुछ तस्वीरें लेकर आए हैं. जिसको देख कर कहेगे कि क्या सही समय पर खीचा है.

सही पकड़ा है :

यदि कोई और होता तो फोटो शायद इतनी मस्त नहीं लगती. मगर अमेरिका के पूर्व राष्ट्रपति ओबामा के हाथ में यह सूरज एकदम परफेक्ट लग रहा है.

मैं भी पढ सकती हूँ :

आजकल तो गिलहरियां भी पढ़ी-लिखी होती हैं इतनी ध्यान से शायद एक्सपायरी डेट देख रही है.

ये धुआं-धुआं सा मैं भी रेस लगाउगी :

बादलों में इस तरह की आकृतियां बनते हुए आपने कई बार देखा होगा. मगर इस बार क्लिक सही समय पर हो गया है.

मैं सही जगह पर जाऊगा :

लोगो को लग रहा है की सूरज सही जगह पर नहीं है इस लिए उसे सही जगह पर लेकर जा रहे हे.

मैं भी आऊंगी :

इससे क्यूट तस्वीर तो कोई हो नहीं सकती. इस तस्वीर का क्रेडिट फोटोग्राफर नहीं इस गिलहरी को ही जाता है.

मैं अभी भी हूँ ड्रैगन :

आपको भी किसी फिल्म का ड्रैगन याद आ गया ना. जरा सोचकर देखिए दो बादल आपस में ऐसे फाइट करने लगेंगे तो कितना मजा आएगा.

आज तो मैं उड़ ही जाऊगा :

ऐसा लग रहा है जैसे इनके मन का कोई खयाल तस्वीर में उभरकर आ गया हो.

ये कैसे हुआ :

यदि आपको लग रहा है कि कोई डॉग बबल में खेल रहा है तो जरा ध्यान से देखिए वो तो बबल के पीछे है समझ गए ना.

चलो रेस लगाए :

नहीं यार इस पक्षी ने रेस नहीं लगाई है बस बीच में आ गया है ऐसा कुछ नहीं. वो तो बस एक प्लेन उसके पीछे छुप गया है.

मेरा चश्मा :

सच बताना, आपने कभी ऐसा चश्मा देखा है क्या यार मिले तो मेरे लिए भी जरुर ले कर आना.

आओ खेलते हैं :

आपने सुना होगा कि आओ सूरज को फुटबॉल बनाकर खेलते हैं इन्होंने सूरज को बास्केटबॉल तो बना ही लिया है.

करतब हां :

यह करतब ही तो है. आप पानी के ऊपर ऐसे हाथ पर खड़े होकर रखकर स्टंट कर रहे है ये तो बस सही समय है.

थोड़ा-थोड़ा से देखो :

आपको यह तस्वीर एक छोटी सी साइकिल की तरह नजर नहीं आ रही. मगर असल में तो सीट बनकर प्यारा सा कीड़ा बैठा है.

कर लिया कैच :

पक्षियों को कैमरे में कैद कर पाना तो बहुत ही मुश्किल है ऐसी यह तस्वीर तो कोई काबिल इंसान ही ले सकता है.

कहां चल दिए :

पानी भी अपनी कलाकारी दिखा ही देता है. रेत को देखकर तो यही लग रहा है कि लोगों की भीड़ अपनी मंजिल की ओर चल पड़ी है.

मुझे सजना है तेरे लिए :

अरे आप ही नहीं यह बर्ड भी अपने लुक को लेकर बड़ी कॉन्शियस रहती है देखिए ना मिरर को देखते ही कैसे रुक गई और खुद को निहारने लग गई.

ये है प्यार :

देख लो, सिर्फ इंसान ही प्यार के लिए दिल नहीं जानवर भी अपने प्यार के लिए दिल बनाना आता है.

देखे है इतने बड़े सींग :

मुझे तो लगता है जानवर समझदार नहीं होते है मगर यह तो बड़ा ही समझदार निकला. अपनी फोटो खिंचवाने के लिए एकदम सही जगह पर आकर खड़ा हुआ है.

खूबसूरत ड्रेस :

देखने में तो ऐसा लग रहा है, जैसे ये किसी एनिमेटेड फिल्म का सीन है. वैसे ऐसा फ्लॉवर वाला ड्रेस भी एकदम मस्त.

बहुत ही बेहतरीन :

आपने कई बिल्डिंग्स का एरियल व्यू देखा होगा. यह तस्वीर भी बहुत आम सी ही है मगर बस फ्रेम में उस प्लेन का आ जाना कमाल कर गया.

अरे खाने का नहीं :

हमारे तो हाथ में ही बबल नहीं टिक पाता है और इसने तो बबल को मुंह में ले लिया है यह तो बहुत ही कमाल का है.

जैसा तू वैसा मैं भी बनुगा :

वो स्टैच्यू और ये एयरप्लेन अगर बात कर पाते तो ये शायद एक-दूसरे से ऐसा ही कुछ कह रहे होते.

चकरा गए ना :

पहली नजर में तो मुझे यही लगा था कि कोई शिप आसमान में उड़ने लगी है मगर बाद में समझ आया कि कोई टॉवर बादलों के बीच छुप गया है.

ये तो क्यूट है :

हर मनुष्य टोपी पहनता है लेकिन देखो इस प्यारे से बर्ड ने भी टोपी पहन ली और उनकी यह टोपी भी इसके जैसी प्यारी ही है.

खा ही गई :

सुना होगा की इंसान सब कुछ खा सकता है. यह तस्वीर मुझे भी ऐसी ही लग रही है. जरा देखो ना एक आदमी को खाती यह महिला कितनी गजब लग रही है.

मैचिंग में मैचिंग :

इस तस्वीर को देखकर तो यही लगता है कि फोटोग्राफी वाकई एक आर्ट है आप देखिए ना क्या दिमाग लगाया है.

मैं स्पेशल रिंग बनुगी :

आप बस इस पोजीशन को देखे इतनी परफेक्ट है कि ऐसा लग रहा है कि वो हमेशा से ही इन रिंग्स का पार्ट है.

समझें सच को :

इस तस्वीर में तो बहुत गहरा मैसेज छुपा है हम कुछ-एक अविष्कार करके खुद को बहुत बड़ा समझने लगते हैं मगर सबसे बड़ा तो वो ऊपर वाला ही है.

Check Also

Heat Rash Remedies: गर्मियों में घमौरियों या खुजली की समस्या से परेशान हैं तो आजमाएं कुछ Gharelu Nuskhe

नई दिल्ली: Heat Rash Remedies: गर्मी का मौसम दस्तक दे चुका है. इस मौसम में घमौरियों ...