Home / हेल्थ-फिटनेस / शुभ-अशुभ नहीं बल्कि बीमारी का कारण हैं आँखों का फरफराना

शुभ-अशुभ नहीं बल्कि बीमारी का कारण हैं आँखों का फरफराना

अच्छी और बुरी बातों का संकेत समझा जाने वाले आँखों के फड़कने को लोग बड़ी ख़ुशी से स्वीकार करते हैं. हम यहाँ बात कर रहे हैं आँखों के फरफराने की बात कर रहे हैं. जिसे बहुत से लोग शुभ-अशुभ मानते हैं, यदि दाई वाली आँख हैं तो कुछ शुभ होगा, और यदि बाई आँख होगी तो अशुभ.

इस प्रकार के मानसिकता वाले लोग हमारे आस पास कही भी बढ़ी आसानी से मिल जाएंगे. जो आज के इस आधुनिक समय पर भी ऐसी बेकार की अंधविश्वासी बातों में अपना भला बुरा ढूंढ लेते हैं.

डॉक्टर्स और वैज्ञानिको के गहरे खोज के बाद ये सामने आया की आँखों का फरकना चाहे हमारे लिए अच्छा हैं या नहीं मगर इतना जरूर पता चला है की ये हमारी आँखों के लिए किसी बढ़ी बीमारी का कारण जरूर हो सकता हैं जो की अशुभ ही माना जायेगा.

डॉक्टर्स के मुताबिक ये आपके शरीर में कमजोरी का कारण भी हो सकता हैं जिससे आपकी मांसपेशियों में सिकुड़न आ जाती हैं जिसके कारण आँखे फरक सकती हैं, इसका दूसरा कारण आपके गलत खान-पान भी हो सकती हैं. यदि आप ज्यादा सोचते हैं या फिर टेंशन लेते हैं तो ये भी आपके आँखों के फरकने की एक वजह हो सकती हैं.

यदि आपकी आँखें भी सामान्य से ज़्यदा फरक रही हैं या आँखों में किसी प्रकार की समस्या हो रही हैं तो आपके लिए आज हम लाये हैं कुछ ऐसे कारगर नुस्खे जिनको अपनाने के बाद आपकी आँखे बिलकुल स्वस्थ हो जाएँगी.

कई बार लगातार काम करने और लैपटॉप या मोबाइल पर देखते रहने से हमारी आँखों का पानी सुख जाता हैं जिसके वजह से आँखों में दर्द, भारीपन, और जलन होने लगती हैं. आँखों में किसी प्रकार की कमी आ रही हैं तो इसके लिए आप सबसे पहले अपने डॉक्टर से इसकी शिकायत करें और इसका बखूबी इलाज करवाएं, नहीं तो आपके आँखों से रौशनी भी जा सकती हैं.

यदि आपकी आँखों में रौशनी की समस्या है तो आप इसको दूर करने के लिए हरी सब्जियों तथा फलों का सेवन कर सकते हैं खासकर वो फल जो विटामिन ए और डी वाले होते हैं.इनके सेवन से आपकी आँखे स्वस्थ और ज्यादा चमकीली लगने लगेंगी.

Check Also

Curry Leaf Tea Recipe: बढ़ते वजन से जल्द छुटकारा पाने के लिए पीएं Curry Leaf Tea, जानें इसे बनाने की रेसिपी

नई दिल्ली। वजन कम करने के लिए लोग ना जाने कितने घंटों तक दौड़, कसरत और ...