Home / मनोरंजन / रणवीर सिंह की फिल्म ’83’ बनाने के पक्ष में नहीं थे कपिल देव, खुद बताई वजह

रणवीर सिंह की फिल्म ’83’ बनाने के पक्ष में नहीं थे कपिल देव, खुद बताई वजह

साल 1983 में भारत को पहला विश्व कप दिलाने वाले पूर्व कप्तान कपिल देव शुरुआत में फिल्म ’83’ बनाने के पक्ष में नहीं थे। उन्होंने कहा कि जब उन्हें पता चला कि दीपिका पादुकोण और रणवीर सिंह बड़े पर्दे पर उनके जीवन की कहानी का किरदार निभाएंगे तो वह डर गए थे। फिल्म ’83’ में कपिल देव का किरदार रणवीर सिंह और रोमी का किरदार दीपिका पादुकोण करती दिखेंगी।

एक्ट्रेस और टॉक शो होस्ट नेहा धूपिया के शो ‘नो फिल्टर नेहा’ में कपिल मेहमान बनकर आए थे और इस दौरान उनसे कई सवाल पूछे गए, जिनका कि कपिल ने बड़ी सहजता के साथ जवाब दिया।

यह पूछे जाने पर कि जब उनकी पत्नी रोमी को इस बारे में पता चला तो उनका क्या कहना था, इस पर कपिल देव ने कहा, “मैं थोड़ा डरा हुआ था। मुझे लगा कि वह एक एक्टर है। आप किसी खेल और एथलेटिक्स की नकल कर रहे हैं। क्या उनके पास इतना ही है? लेकिन, जब मैंने उनके साथ समय बिताया, तो मैं हैरान था कि उन्होंने इस पर कितना समय लगाया है। पिछले साल जून और जुलाई में, उन्होंने करीब आठ घंटे क्रिकेट के मैदान पर बिताए थे और मुझे डर लगता था। मैं कहना चाहूंगा कि वह 20 साल का नहीं है और उन्हें चोटिल नहीं होना चाहिए। मुझे उनकी चिंता थी। मुझे लगता है कि जहां कलाकार और अभिनेता एकसाथ सामने आते हैं, तो उन्हें पता होता है कि उन्हें क्या करना है और कैसे करना है।”

कपिल ने साथ ही यह भी बताया कि इस फिल्म में अपनी भूमिका निभाने के लिए रणवीर ने कैसे उनके साथ अपनी तैयारी की।

उन्होंने कहा, “वह सात या आठ दिनों के लिए मेरे साथ थे। इस दौरान उन्होंने मेरे सामने (रिकॉर्ड करने के लिए) कैमरा रखा और मुझसे पूछा कि मैं कैसे बात करता हूं, क्या करता हूं और कैसे खाता हूं। मुझे लगता है कि वे शानदार हैं।”

यह पूछे जाने पर कि क्या रणवीर ने क्लासिक नटराज शॉट किया है, कपिल ने कहा, “मुझे लगता है कि उन्होंने बहुत मेहनत की है। मुझे अब देखना होगा। मैंने तस्वीरों और अन्य चीजों के बारे में बहुत कुछ देखा है। ये कैमरामैन और ये लोग अच्छे हैं। मैं उनसे बहुत दूर था। हमने कहानी का अपना पक्ष दिया और कुछ नहीं।”

कपिल देव ने खुलासा किया है कि वह अभी भी फिल्म ’83’ नहीं बनाना चाहते क्योंकि उनका मानना है कि ‘हम सभी अभी युवा हैं’।

उन्होंने कहा, “अपने जीवन के दौरान, वे आप पर एक फिल्म बनाते हैं और आपको पता नहीं होता है कि इस पर कैसे प्रतिक्रिया करें। मुझे लगा कि हम अभी भी काफी युवा हैं और कहते हैं ‘यार, यह क्या हो रहा है। लेकिन जब पूरी टीम ने फैसला किया, तो मैं भी उसी का हिस्सा था। मेरी पहली प्रतिक्रिया थी, ‘क्या हम इंतजार कर सकते हैं? हम बहुत छोटे हैं और हर किसी ने हमें देखा है, चलो इसे नहीं बनाते हैं।”

Check Also

बॉलीवुड में ऐतिहासिक योद्धाओं की बायोपिक का बोलबाला, तान्हाजी-बाजीराव के बाद आ रहें है पृथ्वीराज !

बॉलीवुड में पिछले कुछ सालों से बायोपिक ( Bollywood Historical Biopics ) और पौराणिक कहानियों ...