Home / हेल्थ-फिटनेस / ये घरेलू उपाय आपके फेफड़ों को रखेगा हेल्दी, बस तुलसी के साथ मिलाएं ये चीजें, बढ़ जाएगा Oxygen लेवल

ये घरेलू उपाय आपके फेफड़ों को रखेगा हेल्दी, बस तुलसी के साथ मिलाएं ये चीजें, बढ़ जाएगा Oxygen लेवल

अगर आपको चलने के दौरान सांस नहीं फूलती और किसी तरह सांस की कोई परेशानी नहीं है तो समझ जाएं की आपके फेफड़े मजबूत हैं. आप कई बीमारियों का सामना कर सकते हैं. देखा जाता है कई लोग इसको लेकर लापरवाही दिखाते हैं जो कि हानिकारक साबित हो सकती है. आपकी लापरवाही आपको कोरोना का शिकार बना सकती है.

फेफड़ों को हेल्दी रखना बहुत ही जरूरी

दरअसल कोरोना का नया स्ट्रेन सीधे आपके फेफड़े (लंग्स) पर अटैक करता है, जिसे वह डैमेज कर देता है और इसके चलते आपके शरीर में ऑक्सीजन की कमी हो जाती हैं. ऑक्सीजन की कमी से जान पर भी बन आती है. इसलिए फेफड़ों को हेल्दी रखना बहुत ही जरूरी है. हम आपको इस रिपोर्ट में बताएंगे कि कैसे घरेलु इलाज से आपके लंग्स को स्वस्थ बनाए रखा जा सकता है. ये वो चीजें है जो आसानी से आपको अपने घर में मिल जाएंगी. तो पढ़िए ये उपयोगी खबर…

इस तरह करना होगा सेवन 
लंग्स को मजबूत करने के लिए थोड़ी सी मुलेठी, 1-2 काली मिर्च, 1-2 लौंग को सेंक कर और 4-5 तुलसी के पत्ते, थोड़ी सी मिश्री और थोड़ी सी दालचीनी लेकर मुंह में डालकर धीरे-धीरे चबा लें. आप रोजाना ऐसा कर सकते हैं. इस प्रक्रिया से अस्थमा में भी फायदा मिलेगा.

  • इस तरह होगा फायदा

मुलेठी
औषधीय गुणों से भरपूर मुलेठी में विटामिन बी, ई के साथ-साथ फास्फोरस, कैल्शियम, कोलीन, आयरन, मैग्नीशियम, पोटेशियम, सिलिकॉन, प्रोटीन, ग्लिसराइजिक एसिड के साथ-साथ एंटी-ऑक्सीडेंट, एंटी-बायोटिक गुण पाए जाते हैं. जो सर्दी-जुकाम, बुखार के साथ-साथ फेफड़ों को मजबूत रखने में मदद करती है.  मुलेठी का सेवन 3-5 ग्राम ही पाउडर के रूप में करना चाहिए। आपको बता दें कि मुलेठी की तासीर ठंडी होती है।

तुलसी
तुलसी के पत्ते में बहुत मात्रा में पोटैशियम, आयरन, क्लोरोफिल  मैग्नीशियम, कैरीटीन और विटामिन-सी पाया जाता है जो फेफड़ों को हेल्दी रखने में मदद करता है. रोजाना सुबह 4-5 तुलसी की पत्तियों को चबा लें.

लौंग
लौंग कई गुणों से भरपूर होती है. लौंग में युजिनॉल नामक तत्व पाया जाता है, जिसके कारण स्ट्रेस, पेट संबंधी समस्या, पार्किसंस, बदनदर्द जैसी समस्याओं से लाभ मिलता है. लौंग में एंटी-इंफ्लेमेटरी, एंटी-बैक्टीरियल गुणों के अलावा विटामिन ई, विटामिन सी, फोलेट, राइबोफ्लेविन, विटामिन ए, थायमिन और विटामिन डी, ओमेगा 3 फैटी एसिड जैसे आवश्यक तत्व पाए जाते हैं. हार्ट, फेफड़े, लिवर आदि को मजबूत करने के साथ पाचन तंत्र को दूरस्त रखने में मदद करता है.

दालचीनी 
फेफड़ों को मजबूत करने के लिए दालचीनी का इस्तेमाल कर सकते हैं. दालचीनी स्वाद में थोड़ी मीठी और तीखी होती है. दालचीनी में भरपूर मात्रा में थाइमीन, फॉस्फोरस, प्रोटीन, सोडियम, विटामिन, कैल्शियम, मैंग्नीज, पोटेशियम, निआसीन, कार्बोहाइडे्ट आदि पाया जाता है. इसके अलावा यह एंटी-ऑक्सीडेंट का अच्छा स्त्रोत माना जाता है. जो आपके फेफड़ों को हेल्दी रखने के साथ हार्ट को भी मजबूत रखते हैं.

डिस्क्लेमर- इस लेख में दी गई सेहत से जुड़ी तमाम जानकारियों को सूचनात्मक उद्देश्य से लिखा गया है. इसे किसी बीमारी के इलाज या फिर चिकित्सा सलाह के तौर पर नहीं देखना चाहिए. यहां बताए गए टिप्स पूरी तरह से कारगर होंगे इसका हम कोई दावा नहीं करते हैं. यहां दिए गए किसी भी टिप्स या सुझाव को आजमाने से पहले डॉक्टर से सलाह जरूर लें.

Check Also

डायबिटीज के मरीज इस तरह करें शुगर लेवल को कंट्रोल, इन चीजों पर रखें पाबंदी

आजकल इंसान पैसे कमाने के पीछे इतना पागल हो चूका है कि वह सेहत को ...