Home / मनोरंजन / मोदी की वकालत पर हुई फजीहत:अनुपम खेर ने सोशल मीडिया पर लिखा- आएगा तो मोदी ही, यूजर्स बोले- चुल्लू भर पानी में डूब मरो

मोदी की वकालत पर हुई फजीहत:अनुपम खेर ने सोशल मीडिया पर लिखा- आएगा तो मोदी ही, यूजर्स बोले- चुल्लू भर पानी में डूब मरो

अनुपम खेर सत्ता के भक्त हैं, ये बात उन्होंने खुद ही साबित कर दी। कोरोना संकट के दौर में भी उन्हें मानवीय संवेदनाओं और पीड़ा से कुछ लेना देना नहीं है। अनुपम ने शेखर गुप्ता की एक पोस्ट को रीट्वीट करते हुए लिखा- सरकार की आलोचना जरूरी है। उनपे तोहमत लगाइए। पर इससे जूझना हम सबकी भी जिम्मेदारी है। वैसे घबराइए मत। आएगा तो मोदी ही। इसके बाद आप समझ ही गए होंगे कि जनता ने उनकी खैर-खबर किस तरह ली होगी।

अनुपम को पसंद नहीं आया सरकार उंगली उठाना
बात शुरू हुई थी शेखर गुप्ता के ट्वीट से जहां उन्होंने लिखा था- “साठ के दशक के बच्चे के रूप में मैंने हर मुसीबत देखी। 3 युद्धों के साथ अकाल जैसी आपदाएं भी देखीं। यह विभाजन के बाद देश पर आया सबसे बड़ा संकट है। और देश ने भी ऐसा नहीं देखा होगा कि कोई सरकार ऐसे दौर में एक्शन लेने में चूक गई हो। कोई कंट्रोल रूम नहीं, कोई जवाबदार नहीं। यह पूरी तरह से हारी हुई सरकार है।”

अनुपम को शेखर की यह बात बुरी लगी, लेकिन इस पर कटाक्ष करते हुए उन्होंने जो लिखा वह देशवासियों को और उनके फैन्स को भी पसंद नहीं आया। पढ़िए उन्हें किस तरह आलोचना झेलनी पड़ी।

यूजर्स ने लगाई क्लास लेकिन अनुपम ने नहीं हटाई पोस्ट
एक यूजर ने लिखा- अगर आपमें हिम्मत है तो किसी हॉस्पिटल के बाहर खड़े होकर ये चिल्लाओ कि आएगा तो मोदी है, लोग आपको बता देंगे कि कब आएगा। एक अन्य यूजर ने लिखा- अनुपम खेर निर्विवाद रूप से कंगना रनोट का मेल वर्जन है। एक यूजर ने लिखा- बेशर्मी का नोबेल पुरस्कार मिलने लगे तो अनुपम खेर का नाम ससब पहले आएगा। पोस्ट करने के 24 घंटे बाद और बुरी तरह बेइज्जत होने के बाद भी यह उनकी वॉल पर बनी हुई है।

खबरें और भी हैं…

Check Also

शिल्पा शेट्टी के परिवार पर कोरोना की आंचः नन्ही समीशा-बेटे वियान संग पति, मां और सास-ससुर हुए कोविड पॉजिटिव

देश में बढ़ते कोरोना मामलों के बीच अब मशहूर एक्ट्रेस शिल्पा शेट्टी के परिवार पर ...