Home / हेल्थ-फिटनेस / मिर्गी का दौरा पड़ने पर तुरंत किये गए ये घरेलू उपचार बचा सकते हैं मरीज की जान

मिर्गी का दौरा पड़ने पर तुरंत किये गए ये घरेलू उपचार बचा सकते हैं मरीज की जान

अक्सर आपने फिल्मों में देखा होगा कि किस तरह से मिर्गी का दौरा पड़ने पर जूता सुंघाते ही इंसान ठीक हो जाता हैं। हांलाकि ये फिल्मों की बातें हैं, लेकिन असल जिंदगी में भी अक्सर कई बार लोगों को मिर्गी का दौरा पड़ जाता हैं और शरीर कांपने और अकड़ने लगता हैं, तो ऐसे समय में सूझबूझ के साथ काम करने की जरूरत होती हैं। ऐसे समय में आप कुछ घरेलू उपायों को अपनाकर भी रोगी की जान बचा सकते हैं। आज हम आपको उन्हीं उपचारों के बारे में बताने जा रहे हैं, जिन्हें मिर्गी का दौरा पड़ने पर तुरंत किया जाना चाहिए।

तुलसी और सीताफल

तुलसी में काफी मात्रा में एंटी ऑक्सीडेंट पाए जाते हैं जो मस्तिष्क में फ्री रेडिकल्स को ठीक रखने में मदद करते हैं। मिर्गी से छुटकारा पाने के लिए रोगी को रोजाना 20 तुलसी के पत्ते खाने को दें। मिर्गी का दौरा पड़ने पर तुलसी का रस और सेंधा नमक मिलाकर रोगी के नाक में डालें। अगर तुलसी का पौधा न होने सीताफल के पत्ते का रस भी डाल सकते हैं।

करौंदा

मिर्गी के पीड़ित रोगी को करौंदे के पत्तों से चटनी बना कर खिलाएं। अगर वह इसे रोजाना खाएगा तो उसे बहुत जल्दी फायदा मिलेगा।

सफेद प्याज

मिर्गी के दौरे से छुटकारा पाने के लिए रोजाना सफेद प्याज के रस का 1 चम्मच रोगी को पिलाएं।

शहतूत और अंगूर का रस

शहतूत और अंगूर का रस मिर्गी के रोगी के लिए काफी फायदेमंद होता है। रोजाना सुबह रोगी को शहतूत और अंगूर का रस पीने को दें।

पेठा या कद्दू

पेठे या कद्दू में ऐसे पोषक तत्व होते हैं जिससे मस्तिष्क के नाडी-रसायन संतुलित हो जाते हैं। इसके लिए आप रोगी को इसकी सब्जी बना कर भी खिला सकते हैं। इसका जूस बना कर पिलाने से रोगी को ज्यादा फायदा मिलेगा। अगल इसका टेस्ट अच्छा न लगे तो इसमें चीनी और मुलहटी का पाउडर मिक्स करके भी रोगी को दिया जा सकता है।

Check Also

स्वास्थ्य बनाने के लिए परफेक्ट मौसम है Winter, अनुसरण करें ये महत्वपूर्ण Tips

नयी दिल्लीः सर्दियों (Winter) ने उत्तर हिंदुस्तान में दस्तक दे दी है। सर्दी का मौसम आते ही इसका प्रभाव हमारे स्वास्थ्य ...