Home / धर्म / माथे पर तिलक लगाने से होते हैं ढेरों फायदे, जानें वैज्ञानिक कारण

माथे पर तिलक लगाने से होते हैं ढेरों फायदे, जानें वैज्ञानिक कारण

हिंदू धर्म में माथे पर तिलक लगाने का विशेष महत्व है। इसे धार्मिक संस्कारों से जोड़कर भी देखा जाता है। इसके अलावा तिलक लगाना बेहद आम भी है। पूजा-पाठ से लेकर विवाह की रश्मों के दौरान भी माथे पर तिलक लगाया जाता है। ग्रंथों और कथाओं में तिलक लगाने के अनेक फायदे बताए गए हैं। इसके अलावा तिलक लगाने के फायदों को लेकर वैज्ञानिक अध्ययन भी हुए हैं। इन अध्ययनों में तिलक लगाने से मिलने वाले फायदों के बारे में बताया गया है। इसके साथ ही तिलक माथे के किस हिस्से पर लगाना चाहिए, इसे लेकर भी विस्तृत जानकारी दी गई है। आज हम इन्हीं सब चीजों के बारे में विस्तार से बात करने वाले हैं।

वैज्ञानिक आधार पर भी ऐसा कहा गया है कि तिलक लगाने से व्यक्ति को मानसिक रूप से शांति मिलती है। दरअसल माथे पर लगाया गया तिलक मस्तिष्क को शीतलता प्रदान करता है। इससे व्यक्ति को ध्यान केन्द्रित करने में मदद मिलती है। तिलक लगाने से व्यक्ति के आत्मविश्वास में भी इजाफा होता है। ऐसा दावा किया गया है कि तिलक लगाने के बाद व्यक्ति खुद को आत्मविश्वास से भरा हुआ पाता है। इससे वह काफी मजबूती के साथ अपने फैसले ले पाता है। तिलक लगाने से दिमाग में सेराटोनिन और बीटा एंडोर्फिन का स्राव संतुलित तरीके से होता है। इससे व्यक्ति की उदासी दूर होती है और उसे प्रसन्नता की अनुभूति होती है।

कई लोग हल्दी युक्त तिलक लगाना पसंद करते हैं। वैज्ञानिक आधार पर इसे काफी सही ठहराया गया है। हल्दी में एंटी बैक्ट्र‍ियल तत्व होते हैं, जोकि त्वचा रोगों को दूर करने का काम करते हैं। इससे सिर दर्द की समस्या से निपटने में भी मदद मिलती है। इसके अलावा कई लोग चंदन का तिलक लगाते हैं। चंदन का तिलक लगाने के भी अपने कुछ खास फायदे हैं। चंदन युक्त तिलक मस्तिष्क को शीतलता प्रदान करता है। इससे सिर दर्द होने की संभावना कम रहती है और व्यक्ति का दिमाग भी केन्द्रित रहता है।

Check Also

Chaitra Navratri 2021 : नवरात्रि के पहले दिन इस शुभ योग में करें घट स्थापना, जानें पूजन का महत्व

आज नवरात्रि का पहला दिन है. इस दिन मां दुर्गा के पहले स्वरूप शैलपुत्री रूप ...