Home / वायरल न्यूज़ / महिलाओं ने रचा इतिहास, मालगाड़ी चलाकर पुरूषों को छोड़ा पीछे, देखकर हैरान रह गए लोग है

महिलाओं ने रचा इतिहास, मालगाड़ी चलाकर पुरूषों को छोड़ा पीछे, देखकर हैरान रह गए लोग है

लोग कहते हे कि आज के दौर में महिलाएं कही भी सुरक्षित नहीं है। चाहे वो घर हो या बाहर। लेकिन ये कथन कहा तक सही है ये हम नहीं कह सकते। हाँ हम ये जरूर कह सकते है कि महिलाएं आज के इस दौर में पुरषों के साथ कंधे से कंधा मिला कर चल रही हैं। इसका जीता जगता उदहारण महाराष्ट्र का है जहां कुछ महिलाओं ने एक मालगाड़ी को वसई से बड़ोदरा निर्धारित समय में पहुंचा दिया। इस मालगाड़ी को चलने के लिए पायलट से लेकर गार्ड तक सभी महिलाएं थी। ये इतिहास में पहली बार हुआ की महिलाओं ने ट्रेन चलाई है। ये ट्रेन जिस स्टेशन से भी गुजरी वहीं लोगों हैरान हो गए।

महिलाओं का वसई से बड़ोदरा तक का सफर

महाराष्ट्र रेलवे को मालगाड़ी ट्रेन में करीब 43 बंद डिब्बों में रखा 3686 टन का सामान वड़ोदरा पहुंचाना था। इस ट्रेन की कमान पहली बार महिलाओं के हाथ में दी गई। जिन महिलाओं के हाथों में ये कमान थी उसमे लोको पायलट कुमकुम एस डोंगरे, सहायक लोको पायलट, उदिता वर्मा और गुड्स गार्ड आकांक्षा रे थीं। इन सभी महिलाओ ने मालगाड़ी को महाराष्ट्र पालघर जिले के वसई स्टेशन से गुजरात के बड़ोदरा स्टेशन का सफर लगभग 60/KM/hr की रफ्तार से लगभग 8 घंटे का सफर करके निर्धारित समय पर पहुंचा दिया। पश्चिम रेलवे के महाप्रबंधक आलोक कंसल का कहना था कि पश्चिम रेलवे ने एक और परंपरा काे ताेड़ा है, जाे इतिहास में दर्ज हाे गया। इन महिलाओं ने एक उदाहरण पेश किया है। जिसने इतिहास ही बदल दिया है। उन्होंने कहा कि ये प्रेरणा है उन सभी महिलाओं के लिए। महिलाएं चाहे तो हो क्या नहीं कर सकती है। कार, हवाई जहाज चला चुकी है तो उनके आगे ट्रेन क्या है

Check Also

कोका-कोला के लिए 6 उपयोग आप शायद नहीं जानते होंगे

कोका-कोला का उपयोग करने के लिए ब्राइट साइड 10 वैकल्पिक तरीके प्रदान करता है, जिनमें ...