Home / हेल्थ-फिटनेस / महिलाओं के पीरियड्स में खून रंग भी देता हैं कई बीमारियों का संकेत, ऐसे करें चेक

महिलाओं के पीरियड्स में खून रंग भी देता हैं कई बीमारियों का संकेत, ऐसे करें चेक

लड़कियों के हर हर महीने पीरियड्स की समस्या आम है। इस दौरान ब्लड फ्लो भी होता है। इन दिनों महिलाओं स्वभाव के साथ चक्कर, उल्टी जैसी परेशानियों होने लगती हैं। वहीं, कई बार ब्लड का रंग भी अलग-अलग होता है। लेकिन पीरियड्स का बदला रंग किसी बीमारी का संकेत हो सकता है।

कौन-सा रंग किस बीमारी का संकेत

पीरियड्स में गाढ़े लाल रंग के फ्लो का मतलब है कि जननांग से ब्लड का फ्लो बहुत ही धीमा है। ऐसे में आपको डॉक्टर से सलाह लेनी चाहिए।

ब्लड का रंग गाढ़ा भूरा होने का मतलब है कि जो ब्लड फ्लो हो रहा है वह बहुत पुराना है। काफी समय पहले यह खून गर्भाशय में इक्ट्ठा हो रहा था। यह सेहत के लिए बिल्कुल ठीक नहीं है।

अगर आपके पीरियड्स का कलर हल्का रेड है तो आपको चिंता करने की जरूरत नहीं है। ये खून काफी हल्का होता है लेकिन दिन के समय जब फ्लो तेज होता है तभी लाल रंग का स्त्राव होता है।

अगर आपके फ्लो का रंग गहरा काला है तो ये खतरे का संकेत है। काला फ्लो तब होता है जब गर्भाशय में संक्रमण हो या फिर ये गर्भपात का सूचक भी हो सकता है।

अगर आपका पीरियड्स में परेशानी नजर आ रही है तो डॉक्टर की जांच जरूर करवा लें।

Check Also

स्किन-हेल्थ और इम्यूनिटी के लिए रामबाण है टमाटर का जूस, ऐसे बनाइए, मिलेंगे ये फायदे

Benefits of Tomato Juice: टमाटर का उपयोग भोजन के स्वाद को बढ़ाने के लिए खूब किया ...