भारत में नाम बदल कर आ रहा टिकटॉक

नई दिल्ली : भारत में बेन हो चुका चाइनीज ऐप टिकटॉक पुन: वापसी की तैयारी कर रहा है। इस ऐप का नाम बदला हुआ होगा। एक नए ट्रेडमार्क ऐप ने संकेत दिया है कि भारत में वापसी के लिए इसका नया नाम टिकटॉक हो सकता है। नए नाम की स्पे‎लिंग में मामूली अंतर है। टिपस्टर मुकुल शर्मा ने बताया कि टिकटॉक की पेरेंट कंपनी बाइटडांस ने जुलाई 2021 की शुरुआत में कंट्रोलर जनरल ऑफ पेटेंट्स, डिजाइंस एंड ट्रेड मार्क्स के पास टिकटॉक के लिए ट्रेडमार्क फाइल किया था।

बता दें कि टिकटॉक उन सैकड़ों चीनी ऐप में शामिल था, जिन्‍हें केंद्र सरकार ने राष्‍ट्रीय सुरक्षा का हवाला देकर पिछले साल बैन कर दिया था।केंद्र सरकार ने शुरुआत में शी-इन , शेयरइट, ईएस फाइल एक्‍सप्‍लोर समेत 59 ऐप को सूचना प्रौद्योगिकी अधिनियम और आईटी नियम 2008 की धारा-69 के प्रावधानों के तहत बैन किया था। इसमें कहा गया था कि उपलब्ध जानकारी के मद्देनजर ये ऐसी गतिविधियों में लिप्त हैं, जो भारत की संप्रभुता व अखंडता, भारत की रक्षा, राज्य की सुरक्षा और सार्वजनिक व्यवस्था के खिलाफ हैं। टिकटॉक ट्रेडमार्क एप्लिकेशन 6 जुलाई 2021 को दाखिल की गई है। इसमें इसकी सर्विस की जानकारी दी गई है। हालांकि, इसके अलावा टिकटॉक की संभावित वापसी को लेकर कोई पुख्ता जानकारी नहीं है। नए एप्लिकेशन की खबर ऐसे समय आई है, जब बाइटडांस के सूत्र ने कुछ दिन पहले ही बताया था कि कंपनी मोदी सरकार और अमेरिकी राष्‍ट्रपति जो बाइडेन प्रशासन के नए आईटी नियमों को देखते हुए ऑपरेशंस को फिर शुरू करना चाहती है। अमेरिका के नए नियमों में चीनी ऐप्स को पूरी तरह प्रतिबंध करने के बजाय उनकी सुरक्षा की समीक्षा की जाएगी।

इससे पहले जून 2021 में बाइडेन ने टिकटॉक और वीचेट पर लगे प्रतिबंध रद्द करने वाले एक कार्यकारी आदेश पर साइन भी किए थे। बता दें ‎कि भारत में टिकटॉक पर प्रतिबंध लगाने के महीनों बाद सरकार ने मोबाइल गेम पबजी मोबाइल को भी ब्लॉक कर दिया था। इसने हाल में बैटलग्राउंड मोबाइल इंडिया के रूप में वापसी की है।

Related Posts