Home / धर्म / प्रेमी को अपने वश में करने का अचुक उपाय

प्रेमी को अपने वश में करने का अचुक उपाय

प्रेमी को अपने वश में करने का अचुक उपाय, प्रेमी को अपने वश में करने का अर्थ है विपरीत लिंग वाले व्यक्ति के मन में अपना आकर्षण पैदा करना और उसका आपके प्रति सम्मोहित होना। वह सम्मोहन रूपरंग, अदाएं, बोलचाल, चालढाल, भावनात्मक बात-व्यवहार और यौन आकर्षण की बदौलत मिल सकता है।

प्रेम-संबंध को प्रगाढ़ बनाने का मूल आधार यही है। इसके लिए स्त्री-पुरुष के बीच उत्पन्न होने वाले नैसर्गिक आकर्षण का विशेष महत्व है। साथ ही प्रेमियों के बीच आपसी संबंध की मधुरता के लिए प्रेमिका को चाहिए कि वह प्रेमी के दिल में अपनी जगह बनाए उसके मन को अपने कब्जे में कर ले।

प्रेमी को अपने वश में करने का अचुक उपाय

इससे ही वैवाहिक जीवन की नींव मजबूत बन सकती है। यदि इन सबमें कोई कमी रह गई हो तो वैदिक पूजा-पाठ, तांत्रिक व मांत्रिक उपाय या साधानएं और सामान्य टोटके के तरीके अपनाए जा सकते हैं। प्रेम में वशीकरण के अचूक असर वाले कुछ  उपाय इस प्रकार के हैंः-

श्रीकृष्ण की आराधना

प्रेमिका को चाहिए कि वह शुक्रवार के दिन राधा-कृष्ण के मंदिर में जाए और उनकी मूर्ति के सामने भगवान श्रीकृष्ण की आराधना करते हुए नीचे दिए गए मंत्र का 108 बार जाप करें।

इससे पहले विधि-विधान के साथ प्रतिमा पर फूल माला चढ़ाएं, धूप-दीप जलाएं और मिश्री का भोग लगाएं। इस उपाय से प्रेमी का प्रेमिका प्रति जबरदस्त आकर्षण पैदा होता है और उसके मन में अपनी प्रेमिका को लेकर तड़प उत्पन्न होती है। जाप का मंत्र इस प्रकार हैः-ऊँ क्लीं कृष्णाय गोपीजन वल्लभाय स्वाहाः!

मंत्र जाप का जादूई असर

प्रेमी को अपने वश में करने के लिए छोटे से मंत्र ओम क्लीम कृष्णाय का प्रति दिन 551 बार उच्चारण के साथ जाप करें। कुछ दिनों में ही इसका असर प्रेमी पर होगा और पूर्ण सफलता उस दिन मिलेगी जब प्रेमी के दिल में मिलने की हूक पैदा होगी और डेटिंग के समय वह मिलने का इंतजार कर रहा होगा। इसकी शुरूआत शुक्रवार के दिन से सूर्योदय के पहले करें और लगातार अगले शुक्रवार तक अवश्य करें।

जाप आरंभ करने से पहले एक पान के पत्ते पर दाएं हाथ की अनामिक के जरिए सिंदूर देसी घी से गीला कर प्रेमी का नाम लिख दें। उसके सामने रखकर मंत्र जाप करें। उसके बाद पत्ते को बाएं से दायीं तरफ घुमाकर कहीं दूर फेंक आएं। उस दिन प्रेमी से अवश्य मिलें। यह प्रक्रिया अगले शुक्रवार तक जरूर करें।

गंुजा के पांच दाने

प्रेमी के वशीकरण का एक अचूक उपाय गुंजा के पांच दाने से किया जा सकता है। प्रेमी का नाम लेकर मिट्टी के दीपक को शहद से भर दें। उसमें गुंजा के पांच दाने डाल दें। इसे कामदेव वशीकरण मंत्र का 11 दिनों तक जाप के द्वारा अभिमंत्रित कर लें। बाद में प्रेमी द्वारा उपहार दिए गए रूमाल में शहद में लिपटे गुंजा के दाने को निकाल कर बांध दें।

कामदेव  मंत्र हैः- ओम कामदेवाय विद्यहे रति प्रियायै धीमहि टैनो अनंग प्रचोदयात स्वाह! यह जाप 108 बार आधी रात को करें। उसके बाद गुंजा बंधे रूमाल प्रेमी को संभाल कर रख लें। इससे प्रेमी का न केवल वशीकरण होता है, बल्कि उसके जीवन साथी बनने की संभावना भी प्रबल हो जाती है। उसके साथ विवाह में किसी भी तरह की बाधा नहीं आती है।

रूठे प्रेमी का वशीकरण 

नीचे दिए गए मंत्र के साथ विधि-विधान से किया जाने वाला साधना रूठे या किसी और के चक्कर में फंसे प्रेमी के वशीकरण का अचूक उपाय हो सकता है। वह मंत्र हैः-

अक्ष्यौ नौ मधुसंकाशे अनीकं नौ समंजनम्!

अंतः कृष्णुष्त मां ह्रदि मन इन्नौ सहसति!!

इस साधना के लिए सूर्योदय से पहले स्नान आदि से निपटकर एकांत स्थान पर कुश का आसन लगाएं। पूरब दिशा की ओर मुख कर बैठें और अपने सामने देवी पार्वती की तस्वीर रखें। उन्हें स्थापित करने के लिए पूजन करें और बताए गए मंत्र का 21 बार पाठ करें। यह कार्य लगातार 11 दिनों तक करें। एक सप्ताह पूरा होते ही इसका असर दिखने लगेगा।

सिद्ध योग से सम्मोहन 

प्रेम संबंध को पराकाष्ठा तक पहुंचाने के लिए प्रेमी का सम्मोहित होना आवश्यक है। उसके लिए सिद्ध योग के साथ निम्नलिखित मंत्र का 1100 बार जाप करना होगा। सूर्योदय से पहले किया जाने वाला यह जाप एक सप्ताह में पूर्ण होगा और मंत्र जाप की संख्या इन दिनों में सुविधानुसार बांट लेनी होगी।

प्रतिदिन प्रेमी के पसंद की कोई मिठाई रखनी होगी और उसे उसी दिन खिलाने की कोशिश करनी होगी। या फिर उसके नाम से वितरित कर देनी होगी। इस जाप को विवाहिता अपने पति के लिए भी कर सकती है। मंत्र हैः- अमुक (प्रेमी का नाम) जय जय सर्वव्यान्नमः स्वाहा!!

देवी दुर्गा की पूजा

प्रेमी का अगाध प्रेम हासिल करने के लिए देवी पार्वती और भगवान गणेश की पूजा करें। यह पूजा प्रातः मंदिर या घर में विधिवत 21 दिनों तक करनी होगी। इस दौरान निम्नलिखित मंत्र का उच्चारण के साथ जाप भी करना होगा। मंत्र हैः-

हे गौरी शंकरार्घांगिन! यथा त्वं शंकरप्रिया तथा मां कुरु कल्याणि कांत कांता सुदुर्लभाम्!

कुछ टोटके

    • शनिवार की आधी रात को सात लौंग लेकर उसपर अपने प्रेमी का नाम लेकर 21 बार फूंक मारें और अगले दिन रविवार की सुबह आग में जला दें। इस प्रयोग को सात दिनों तक करें। इसके दो सप्ताह बाद प्रेमी आपसे मिलने स्वयं आएगा।
    • शुक्रवार की रात को सोने से पहले भगवान श्रीकृष्ण का ध्यान करते हुए प्रेमी का स्मरण कर तीन इलायची अपने शरीर से स्पर्श कर सुरक्षित रख दें। अगले दिन शनिवार की सुबह उसे पीसकर किसी खाने की वस्तु में मिलाकर प्रेमी को खिलाएं। इस प्रयोग को पांच  शुक्रवार करे।
    • नागकेसर, चमेली के फूल, तगर, कुमकुम और देसी घी के मिश्रण का तिलक बनाएं और उसे नियमित रूप से प्रातः स्नान आदि के बाद पूजा करने के समय लगाएं। अपने प्रेमी का स्मरण करें और ईश्वर से उसे आपके प्रति सम्मोहित होने की मन्नत मांगें। यह तिलक वशिकरण की अद्भुत शक्ति देगा और आप प्रेमी से मिलकर अपने दिल की स्पष्ट बात खुलकर रख पाएंगी।
    • धतूरे के बीज को नरियल तेल और कपूर के साथ मिलाकर पीसें। इस सुगंधित मिश्रण का तिलक लगाकरं और प्रेमी के सामने जाएं। इसका प्रेमी का जबरदस्त असर होगा। तिलक को किसी बंद डिब्बी में रखें ताकि कपूर की गंध बनी रहे। संभव हो तो प्रेमी से मिलने के कुछ समय पहले ही तिलक लगाएं।

Check Also

रामनवमी पर होगा पांच ग्रहों का शुभ संयोग

झुंझुनू : चैत्र नवरात्र के अंतिम दिन 21 अप्रैल को रामनवमी मनाई जाएगी। रामनवमी पर ...