Home / हेल्थ-फिटनेस / पति को बार-बार मत फटकारिये, नही तो कहना पड़ेगा आ अब लौट चलें

पति को बार-बार मत फटकारिये, नही तो कहना पड़ेगा आ अब लौट चलें

दिल्ली। जिन्दगी में घर-परिवार की समस्याएं आती ही रहती हैं। कभी-कभी ऐसी घटना हो जाती है जिस पर विश्वास करना भी मुश्किल हो जाता है। दिल्ली में एक ऐसा ही मामला आया है जिसमें व्यक्ति पत्नी की डांट फटकार से डर कर घर छोड़कर भाग गया है। दिल्ली पुलिस की क्राइम ब्रांच ने एक ऐसे व्यक्ति को पकड़ा है जो 19 महीने पहले पत्नी के डर से घर से भाग गया। प्राइवेट कंपनी की जॉब छोड़कर 19 महीने तक वह हरियाणा के मेवात में मामूली से वेतन पर ड्राइवर की नौकरी करता रहा है। पत्नी की फटकार के बाद घर छोड़ने वाले इस व्यक्ति को कई परेशानियों से गुजरना पड़ा है। इस दौरान उसकी पत्नी ने अदालत का दरवाजा भी खटखटाया और उसके दोस्त का पॉलीग्राफ टेस्ट तक कराया गया। गत मंगलवार को व्यक्ति पुलिस ने खोज निकाला। हालांकि वह घर जाने को राजी नहीं था लेकिन दिल्ली पुलिस क्राइम ब्रांच द्वारा उसकी पत्नी को बुलाया गया और काफी समझाने के बाद शख्स घर जाने को तैयार हुआ। पुलिस ने पत्नी के साथ उसकी कई बार काउंसिलिंग कराया। डिप्टी कमिश्नर क्राइम ब्रांच मोनिका भारद्वाज ने बताया कि हमने दंपति की काउंसलिंग करवाई है, ताकि वह फिर घर से भाग न जाए। पुलिस ने बताया कि पिछले साल अप्रैल तक व्यक्ति अपनी पत्नी और एक बेटे के साथ रहता था। युवक एक पेंट फर्म के लिए काम करता था जहां उसे 25,000 रुपये वेतन मिलता था। पिछले साल 12 अप्रैल की सुबह वह नोएडा में काम के लिए अपने घर से निकला लेकिन वापस नहीं लौटा। नोएडा में गुमशुदगी की शिकायत दर्ज की गई है लेकिन पता नहीं लग सका। घर से भागने वाले इस व्यक्ति को पत्नी के करीबी दोस्त पर शक था।

पुलिस ने कॉल डिटेल निकलवाई तो लापता होने से ठीक पहले युवक ने अंतिम बार इसी दोस्त से बात की। उसने अपने दोस्त से 10,000 रुपए एक रिश्तेदार को देने के लिए कहा था। लापता युवक का जब कोई पता नहीं चल सका तो उसकी पत्नी ने इस साल की शुरुआत में दिल्ली हाई कोर्ट का दरवाजा खटखटाया। 15 अक्टूबर को अदालत ने दिल्ली पुलिस की अपराध शाखा से अब तक की गई कार्रवाई की रिपोर्ट मांगी। केर्ट के आदेश पर पुलिस ने अपहरण की एफआईआर दर्ज की। इसके बाद जिस दोस्त पर शक था उसका पॉलीग्राफ टेस्ट कराया गया। पाॅलीग्राफ टेस्ट से पता चला की इस मामले में उसके दोस्त से कोई सम्बन्ध नही है। पुलिस ने उसके माता-पिता, रिश्तेदारों और कई दोस्तों से पूछताछ की. कॉल डिटेल रिकॉर्ड (सीडीआर) भी निकलवाई।

इसी दौरान नोएडा पुलिस के हाथ कुछ सुराग लगा। क्राइम ब्रांच ने इसी सुराग के आधार पर तफ्तीश शुरू कर दी। पुलिस टीम मेवात पहंुच कर युवकी तलाष में लग गयी। जहां लापता शख्स एक मजदूर तौर पर काम कर रहा था। पूछताछ में पता चला कि वह शख्स वहां ड्राइवरी करता है। शख्स से पूछताछ की गई तो उसने बताया कि वह ऐसा सिर्फ पत्नी से दूर रहने के लिए कर रहा है। उसे दिल्ली वापस लाने के लिए दिल्ली पुलिस को काफी मशक्कत करनी पड़ी। अब दोनों साथ-साथ रह रहे हैं।

Check Also

अगर वजन बढ़ाने के लिए कर रहे है कई जतन तो अपनाएं ये टिप्स, दिखने लगेगा असर

हमारे शरीर का वजन हद से ज्यादा कम होना यह बताता है कि आप शारीरिक रूप ...