Home / धर्म / धन-संपत्ति के लिए आपके घर में जरूर होनी चाहिए ये 5 चीजे

धन-संपत्ति के लिए आपके घर में जरूर होनी चाहिए ये 5 चीजे

जीवन में धन कमाने के वैसे तो कई उपाय हैं। लेकिन हर कोई चाहता है उसके पास कोई एक ऐसा सटीक उपाय हो, जो आसान हो और उनके द्वारा किया जा सके। इस संबंध में ज्योतिषों का कहना है कि कुछ ऐसे उपाय भी हैं, जिन्हें अपनाकर व्यक्ति के पास कभी भी धन-संपत्ति की कमी नहीं होती।शास्त्रों के अनुसार कुछ ऐसी चीजें भी होती है जिनको घर में रखने से आर्थिक कमी नहीं होती है। तथा इन पांच चीजों को घर में रखने से पैसो की कमी नहीं रहती है आइये जानते है वो पांच चीजें जिन्हे हमेशा अपने घर में रखनी चाहिए…

पंचमुखी मूर्ति
अगर घर में दक्षिण पश्चिम दिशा में आप हनुमान जी की पंचमुखी मूर्ति रहेंगे या उनकी पंचमुखी तस्वीर लगा देंगे तो देवी लक्ष्मी को आपके घर में आने के लिए मजबूर होना पड़ेगा और इसके साथ ही इस मूर्ती के कारण घर में हर तरह की परेशानियों का निवारण भी हो जाता है। आप आर्थिक लाभ के लिये पंचमुखी हनुमान की नियमित पूजा कर सकते हैं लाभ होगा।

भगवान की मूर्ति
अगर आपके घर में वास्तु भगवान की मूर्ति अथवा तस्वीर लगी हुई है तो इससे घर में वास्तु दोष का निवारण हो जाता है, और धन का आगमन भी घर में जोरों-शोरों से होता है।

सुराही
अगर आपके घर की उत्तर दिशा में पानी से भरी सुराही रखी है तो इससे भी लाभ मिलता है और इसके कारण घर में कभी भी धन की कमी नहीं होती, लेकिन पानी की सुराही रखने पर इस बात का भी ध्यान रखना चाहिए कि सुराही कभी खाली नहीं होनी चाहिए। जी हाँ, अगर खाली सुराही होगी तो धन की हानि होती है इसलिए घर में हमेशा भरी सुराही रखें।

जोडीदार चीजें
घर में मोर, गाय, हंस, बत्तख, हिरण जैसे अच्छे अहिंसक पशुओं के चित्र या मूर्ति रखने का भी चमत्कारिक लाभ मिलता है। इससे जहां दांपत्य जीवन सुखमय बनता है, वास्तुशास्त्र में हंस या हिरण के जोड़ों को रखने से धनागम के योग बनने लगते हैं।

सफेद पत्थर
यह किसी ठोस सफेद पत्थर का होना चाहिए। इस तरह के पत्थर को रखने का चमत्कारिक लाभ मिलता है। धन और समृद्धि के रास्ते फटाफट खुलते हैं। यह अंडाकार सफेद पत्थर घर में होना चाहिए।

Check Also

Chaitra Navratri 2021 : नवरात्रि के पहले दिन इस शुभ योग में करें घट स्थापना, जानें पूजन का महत्व

आज नवरात्रि का पहला दिन है. इस दिन मां दुर्गा के पहले स्वरूप शैलपुत्री रूप ...