घोड़ी पर बैठकर टॉस करने पहुंचा कप्तान, तूफानी फिफ्टी जमा दिलाई टीम को जीत

भारत (India) में अगर कोई सबसे चर्चित खेल है तो वो है क्रिकेट (Cricket). इस देश में इस खेल को धर्म की तरह माना जाता है. हर गली मोहल्ले में क्रिकेट खेलते हुए बच्चे से लेकर बड़े तक मिल जाएंगे. यह खेल इतना प्रसिद्ध है कि भारत में कई जगह छोटे-छोटे क्रिकेट टूर्नामेंट आयोजित कराए जाते हैं. दिन में टूर्नामेंट तो होते ही हैं लेकिन नाइट टूर्नामेंट का भी काफी क्रेज रहता है. टेनिस गेंद से भी और प्लास्टिक गेंद से भी टूर्नामेंट खेले जाते हैं. ऐसा ही एक टूर्नामेंट राजस्थान (Rajasthan) के नागौर जिले में खेला जा रहा है. आमतौर पर इस तरह के टूर्नामेंट्स स्थानीय अखबारों में ही जगह बना पाते हैं और इनकी चर्चा शहर या गांव से बाहर नहीं होती, लेकिन नागौर जिले में जो क्रिकेट टूर्नामेंट खेला जा रहा है उसमें एक ऐसी रोचक घटना हुई कि सभी का ध्यान इसने अपनी तरफ खींच लिया

यह घटना मैच की शुरुआत से कुछ देर पहले की है और जब ऐसा हुआ तो हर कोई हैरान था. हैरान इसलिए की यह शायद पहली बार हो रहा था. आमतौर पर ऐसा देखने को नहीं मिलता. हां, शादी में ऐसा होता ही है. आप सोच रहे होंगे ऐसा क्या है जो शादी की बात आ गई. दरअसल, नागौर जिले के बुराबड़ कस्बे में एक नाइट क्रिकेट टूर्नामेंट का मैच खेला गया. इस मैच से पहले टॉस होना था. दोनों कप्तान को बुलाया गया. दोनों कप्तान का इंतजार हो रहा था. तभी एक टीम का कप्तान घोड़ी पर नजर आया. वह टॉस के लिए घोड़ी पर बैठकर आया था. कप्तान सफेद रंगी की घोड़ी पर बैठकर टॉस के लिए आया था. कप्तान जब टॉस के लिए घोड़ी पर आ रहे थे तो उनके उनके साथ ढोल- नगाड़े भी बज रहे थे और लोग किसी बारात की तरह नाच रहे थे.

लोग लेने लगे सेल्फी

इस टूर्नामेंट में अजमेर का लीलण क्रिकेट क्लब खेलने आया था. जिसका सामना अलवर की टीम से था. मैच में टॉस होना था तभी लीलण क्रिकेट क्लब के कप्तान साकिर खान सफेद घोड़ी पर टॉस के लिए आए. जैसे ही कप्तान को घोड़ी पर देखा गया तो लोग हैरान हो गए. सोचने लगे कि ये क्या हो रहा है. देखते ही देखते घोड़ी पर बैठे कप्तान की तस्वीरें निकाली जाने लगीं. कप्तान के चारों तरफ भीड़ ही भीड़ इकट्ठा हो गई और सभी हैरानी के साथ हंस भी रहे थे.

दो बार हुआ टॉस

इस मैच में टॉस दो बार हुआ. पहली बार जब सिक्का उछाला गया तो वह आस-पास खड़ी जनता के बीच में चला गया. फिर दोबारा टॉस किया गया जिसे अलवर के कप्तान ने जीता. लीलण क्रिकेट क्लब के कप्तान साकिर ने इस मैच में 23 गेंदों पर 80 रन की पारी खेली और अपनी टीम को जीत दिलाई. ये नाइट ट्रॉफी लॉकडाउन से पहले शुरू हुई थी और फिर बंद करनी पड़ी. अभी फिर से शुरू हुई है. इसमें पूरे राजस्थान से टीमें आई हैं.

Check Also

नई दिल्ली: भारतीय परिवारों में दहेज (Dowry System) प्रथा सदियों से चली आ रही है. लेकिन …

Related Posts