Home / वायरल न्यूज़ / घर नहीं घोंसलों में रहते हैं इस गांव के लोग, खासियत जानकार आप भी रह जाएंगे हैरान

घर नहीं घोंसलों में रहते हैं इस गांव के लोग, खासियत जानकार आप भी रह जाएंगे हैरान

नई दिल्ली। दुनिया में विचित्र लोग व अजीबो—गरीब स्थान देखने को मिल जाएंगे। किसी से पूछा जाए कि घोंसले में कौन रहता है तो लगभग सभी का जवाब होगा कि— चिड़िया। लेकिन कोई यह कहे कि घोंसले में इंसान भी रहते हैं तो शायद लोगों को यह बात अटपटा लगे और वह इस पर विश्वास भी न करे। क्योंकि अपना आलीशान घर का सपना हर इंसान की ख्वाहिश होती है। सबकी यही इच्छा होती है कि उनका अपना घर हो और उसमें सारी सुख—सुविधाएं उपलब्ध हों। लेकिन यहां हम आपकों इंसानों के ऐसे घर के बारे में बता रहे हैं, जिसे जानकर आपको भी हैरानी होगी। ईरान के इस गांव के लोग चिड़ियों की तरह घोंसला बनाकर रहते हैं। मजे की बात यह है कि यह लोग एक—दो साल नहीं बल्कि 700 वर्षों से घर की जगह घोंसले में रहकर जीवन यापन करते हैं। कई पीढ़ियों से यह लोग ऐसे ही घरों में रह रहे हैं।

दरअसल ईरान (Iran) के कंदोवन गांव के लोगों में घोंसलानुमा घरों में रहने की परंपरा काफी पुरानी हो गई है। अपनी परंपरा और अद्भुत रहन-सहन के लिए यह गांव दुनियाभर में काफी मशहूर हैं। इस गांव के लोग चिड़ियों की तरह घोंसले की तरह घर बनाकर रहते हैं। इनके इस घोंसलेनुमा घरों की खासियत भी है। यह घर हर मौसम में अनुकूल रहता है। यहां ठंड के मौसम में गर्मी और गर्मियों में ठंडी का एहसास होता है। यह घर दिखने में अजीब लगता है लेकिन होता काफी आरामदायक है। 700 साल पुराने इस गांव के लोगों को ठंड में हीटर और गर्मी में एसी की जरूरत नहीं होती। इस घर को मौसम के अनुरूप बनाया जाता है, जिसके चलते ठंडी और गर्मी दोनों मौसम में अनुकूल बना रहता है।

यह सब जानने के बाद आपके मन में यह सवाल जरूर उठ रहा होगा कि आखिर इन लोगों को ऐसे घरों की जरूरत क्यों पड़ी? गौरतलब है कि बहुत समय पहले यहां मंगोलों का आतंक था। मंगोलों के हमलों से अपनी जान बचने के लिए यहां के लोगों के पूर्वजों ने इस तरह के घर बनाए थे। कंदोवन में रहने वाले वाशिंदे मंगोलों के आतंक से आहत होकर यहां आए थे। मंगोलों से बचने के लिए इन लोगों के पूर्वज ज्वालामुखी की चट्टानों में ठिकाना खोदा करते थे और उसी को अपना स्थाई घर बना लेते थे।

Check Also

जिस लड़की का अंतिम संस्कार करके घर लौटा परिवार, फोन पर सुनी उसी की आवाज, हर कोई गया कांप

जिस लड़की का अंतिम संस्कार करके घर लौटा परिवार, फोन पर सुनी उसी की आवाज, ...