Home / हेल्थ-फिटनेस / कुछ समय की नींद से सुधर सकती है आपकी दिनचर्या

कुछ समय की नींद से सुधर सकती है आपकी दिनचर्या

दोपहर की झपकी की बात करे तो सबसे पहले छोटे बच्चो का ख्याल आता है इन बच्चो के पास दिन में सोने के लिए समय ही समय होता है. लेकिन बड़ो को भी इसकी बहुत जरुरत होती है एक शोध के अनुसार यह पता चलता है कि 52 प्रतिशत व्यक्ति को काम के दौरान झपकी आने लगती है और लगातार फोकस नहीं कर पता है जिसके कारण काम में गलतियां करने लगता है.

जिस काम को वह आसानी से कर सकते है उस काम में भी कई तरह की गलतीया होने लगती है. इसलिए व्यक्ति को दोपहर के समय अपने शरीर को आराम देने के लिए कुछ समय की नींद तो लेना ही चाहिए. जिससे उसका मुड भी फ्रेश हो जाता है और काम में अच्छी तरह से मन भी लगता है.

नेशनल स्लीप फाउंडेशन :

नेशनल स्लीप फाउंडेशन के शोध के अनुसार यह कहा जाता है कि 20 से 30 मिनिट की झपकी से आपकी अलर्टनेस बढा सकती है जिससे आपके काम में सुधार जो जाता है. ऐसे तो दोपहर के समय ऊर्जा एकदम कम जो जाती है इसलिए दोपहर की झपकी से आपको फिर से गति में ला सकता है.

व्यस्त रहना :

हमारी जीवनशैली कुछ इस तरह बन गई है जिससे हम हमेशा व्यस्त रहते है. हलाकि सभी का शरीर और क्षमताए एक सी नहीं रहती कि वो बीना आराम करे व बीना रुके लगातार काम कर सके. ऐसा करने से तनाव व चिचडापन बढता है और निराशा महसूस होती है और कोई भी काम सही नहीं होता है और हम उस पर गुस्सा करने लगते है व काम को छोड़ देते है और कुछ नहीं करते है.

किताब :

एक किताब में भी लिखा है की झपकी से स्वाद व सुनने और देखने की क्षमता बेहतर होती है और दिमाक रिलेक्स होता है व झपकी से कुछ नया करने को मन करता है. और दिल की बीमारी का खतरा भी कम हो जाता है अक्सर जो लोग हफ्ते में तीन से आधिक झपकी लेते है उनमे हार्ट डिसीज का खतरा भी 37 प्रतिशत कम हो जाता है. इसलिए झपकी लेना एक तरह का सिस्टम बन गया है जिससे भावनाए व मस्तिष्क का कार्य ठीक रहता है.

Check Also

गंजेपन से परेशान हैं, रोजाना खाली पेट ये एक चीज खाइए, कुछ ही दिनों में नए बाल आने भी शुरू हो जाएंगे

बालों का गिरना, टूटना, झड़ना, डेनसिटी कम होना, ये सब आजकल आम समस्‍याएं बनती जा ...