Home / हेल्थ-फिटनेस / एंटीऑक्सीडेंट्स, कार्बोहाइड्रेट्स और कैल्शियम का भंडार है काली किशमिश

एंटीऑक्सीडेंट्स, कार्बोहाइड्रेट्स और कैल्शियम का भंडार है काली किशमिश

किशमिश स्वाद में अच्छी होने के साथ ही सेहत के​ लिए काफी फायदेमंद है। आमतौर पर लोग हरी और पीली किशमिश को ही अपने ड्राई फ्रूट की लिस्ट में शामिल करते हैं। लेकिन क्या आप जानते हैं कि काली किशमिश एंटीऑक्सीडेंट्स, कार्बोहाइड्रेट्स और कैल्शियम का भंडार है। यह कई ​बी​मारियों में अच्छे स्तर पर कारगर है। जिनमें ब्लड प्रेशर जैसी कॉमन बीमारी भी शामिल है। तो आइये जानते हैं ऐसी ही कुछ बीमारियों के बारे में जिनमें किशमिश प्रयोग कर फायदा लिया जा सकता है।

हड्डियों की मजबूती

काली किशमिश में पोटैशियम और कैल्शियम की मात्रा अच्छी होती है, जिस कारण ये हड्डियों के लिए फायदेमंद है। इसके लिए रोज 10-15 काली किशमिश का प्रयोग करें। जिससे आपके शरीर को जरूरी कैल्शियम मिलेगा। इससे हड्डियों के भुरभुरापन (ऑस्टियोपोरोसिस) की समस्या दूर होती है और हड्डियां मजबूत होती हैं। महिलाओं को काली किशमिश का सेवन जरूर करना चाहिए क्योंकि उनमें हड्डियों की कमजोरी की समस्या बहुत पाई जाती है।

ब्लड प्रेशर में कारगर

पोटैशियम वाले आहार ब्लड प्रेशर कम करते हैं। यही कारण है कि काली किशमिश ब्लेड प्रेशर वालों के लिए काफी फायदेमंद है। काली किशमिश के सेवन से शरीर में मौजूद सोडियम का असर कम होता है, जिससे ब्लड प्रेशर में तेजी से कमी आती है। इसे खाने के आसान तरीका है कि दिन में कई बार जब भी समय मिले थोड़ी सी काली किशमिश को मुंह में डालकर चबाकर खाएं।

कोलेस्ट्रॉल में मददगार

कोलेस्ट्रॉल भी एक गंभीर समस्या है, जिसके कारण हार्ट अटैक और स्ट्रोक जैसी समस्याओं का खतरा रहता है। कोलेस्ट्रॉल बढ़ने पर व्यक्ति की आकस्मिक मौत की संभावना बढ़ जाती है। इसलिए बढ़े हुए कोलेस्ट्रॉल को घटाना बेहद जरूरी है। कोलेस्ट्रॉल घटाने के लिए भी आप काली किशमिश का सेवन कर सकते हैं। काली किशमिश में घुलनशील फाइबर होता है, जो कि धमनियों में जमा प्लाक को धीरे-धीरे बाहर निकाल देता है। यही कारण है कि इसके सेवन से कोलेस्ट्रॉल कम होता है।

खून की सफाई

काली किशमिश एक तरह से नैचुरल ब्लड प्यूरिफायर का काम करता है। रोजाना काली किशमिश खाने से आपके खून में घुली अशुद्धियां और गंदगी बाहर निकल जाती हैं। इसलिए इसके सेवन से आपके चेहरे पर चमक आती है और त्वचा से संबंधित कई समस्याएं जैसे- कील-मुंहासे, झुर्रियां, धब्बे आदि दूर होते हैं। काली किशमिश के लगातार सेवन से आपका रंग भी निखरता है क्योंकि खून में घुली अशुद्धियों के साफ होने से त्वचा की रंगत पर भी असर पड़ता है।

बालों को रखे फिट

काली किशमिश में आयरन भी काफी मात्रा में पाया जाता है। आयरन वाले आहार शरीर में हीमोग्लोबिन बढ़ाते हैं, जिससे खून बढ़ता है। इसके अलावा आयरन उन लोगों के लिए भी फायदेमंद होता है, जिनके बाल कमजोर होते हैं। अगर आपके बाल झड़ते हैं या बहुत ज्यादा टूटने लगे हैं, तो आपको रोजाना आधी मुट्ठी काली किशमिश का सेवन जरूर करना चाहिए। एनीमिया से ग्रस्त महिलाओं और पुरुषों के लिए भी काली किशमिश का सेवन फायदेमंद होता है।

Check Also

महिलाएं बालों में मेहंदी कब और कैसे लगाएं, जानिए ये बेहतरीन टिप्स

अक्सर महिलाएं बालों की सफेदी छुपाने के लिए मेहंदी लगाती है या बालों को प्राकृतिक तरीके ...