Home / वायरल न्यूज़ / इस मंदिर में बेटे के लिए नहीं बल्कि बेटी पैदा होने के लिए मन्नत मांगने आते हैं लोग

इस मंदिर में बेटे के लिए नहीं बल्कि बेटी पैदा होने के लिए मन्नत मांगने आते हैं लोग

इस दुनिया में वैसे तो लड़की को दुर्गा के रूप में पूजा जाता है लेकिन बेटी के जन्म के समय मायूस नजर आते है। दुनिया के आधे से कहीं ज्यादा लोग यही चाहते हैं कि उनके घर में पहली संतान बेटा हो। लेकिन देश में एक ऐसा भी मंदिर है, जहां लोग बेटे की नहीं बल्कि बेटी पैदा होने की मन्नत मांगने जाते हैं। झारखंड के बोकारो जिले के चास ब्लॉक के चाकुलिया गांव में 170 साल पुराना दुर्गा मंदिर है, जहां सैकड़ों लोग आते हैं और बेटी पैदा होने की मन्नत मांगते हैं।

यहां बेटी के लिए मन्नत मांगने आते हैं लोग

यहाँ हर साल दुर्गा पूजा की शुरुआत में घटस्थापना होती है और इस मंदिर में एक 150 साल पुराने तांबे के बर्तन की पूजा की जाती है। बेटी की कामना में यहां सैकड़ों लोग सिद्धिदात्री दुर्गा की एक भव्य मूर्ति से प्रार्थना करने के लिए आते हैं।’ वहीं अगर लोककथाओं को माने तो, कालीचरण दुबे नाम के एक ग्रामीण ने पहली बार यहां क़रीब 150 साल पहले एक बेटी के लिए प्रार्थना की थी और उसकी इच्छा पूरी हुई थी।

ये है इस मंदिर की मान्यता

उसके बाद सभी कि मुरादें पूरी होने लगी और यह बात देखते ही देखते सभी जगह फ़ैल गई। एक गांववाले का कहना है, हर साल कई जोड़े बेटी की कामना में यहां आते हैं। इनमें से बहुत से लोगों की मुराद पूरी भी होती है और सभी ग्रामीण यहां भक्ति और समर्पण के साथ दुर्गा पूजा करते हैं।

Check Also

ग्रामीणों ने हीरा मिलने की उम्मीद में खोद डाला पहाड़, सरकार ने दिए जांच के आदेश

कोहिमा। कभी सोने की चिड़िया कहे जाने वाले देश में आज भी अक्सर कहीं न कहीं ...