Home / हेल्थ-फिटनेस / अश्वगंधा और आंवला इंस्टेंट बूस्ट करेगा हीमोग्लोबिन, जानें कैसे करें इस्तेमाल

अश्वगंधा और आंवला इंस्टेंट बूस्ट करेगा हीमोग्लोबिन, जानें कैसे करें इस्तेमाल

हीमोग्लोबिन शरीर के अंगो में ऑक्सीजन पहुंचाने का कार्य करता है। इसके साथ ही ये शरीर के अंगों से कार्बनडाई ऑक्साइड गैस बाहर निकलती है। वहीं अगर किसी व्यक्ति के शरीर में हीमोग्लोबिन की कमी हो जाए तो कई तरह की सेहत संबंधी समस्याएं होने लगती हैं। साधारण तौर पर एक व्यक्ति के शरीर में हीमोग्लोबिन की मात्रा 13.5 ग्राम प्रति डेसीलीटर होना चाहिए। किसी भी व्यक्ति के शरीर में हीमोग्लोबिन की मात्रा में कमी कई कारणों से होती है। ऐसे में अगर आप भी शरीर में हीमोग्लोबिन की कमी से परेशान हैं तो आंवला अश्वगंधा और त्रिकुटा पाउडर से बना ये चूर्ण इंस्टेंट फायदा करेगा। जानें क्या है इस चूर्ण को बनाने का तरीका।

हीमोग्लोबिन बढा़ने वाले चूर्ण के लिए जरूरी चीजें

  • आंवला पाउडर 100 ग्राम
  • अश्वगंधा पाउडर 100 ग्राम
  • त्रिकुटा पाउडर 100 ग्राम

बनाने की विधि- सबसे पहले तीनों चीजों को 100 ग्राम ले लें। इसके बाद इन्हें अच्छी तरह से मिलाएं। इस मिश्रण को आप लंबे वक्त तक स्टोर भी कर सकते हैं।

ये है इस्तेमाल का तरीका

इस मिश्रण को रोजाना एक चम्मच गुनगुने पानी के साथ लें। रोजाना इस मिश्रण का सेवन करने से हीमोग्लोबिन की कमी जल्दी दूर हो जाएगी। साथ ही शरीर को एनर्जी भी मिलेगी।

आंवला
आंवले में आयरन और विटामिन सी प्रचुर मात्रा में होता है। आयुर्वेद के अनुसार आंवला एंटी एनेमिक जड़ी बूटी के रूप में काम करता है। जिसकी वजह से हीमोग्लोबिन इंस्टेंट बढ़ता है। इसके अलावा आंवला में आयरन और विटामिन सी के अलावा कई और तत्व पाए जाते हैं। जिसमें विटामिन सी, विटामिन एबी, पोटैशियम, कैल्शियम, मैग्‍नीशियम, आयरन, कार्बोहाइड्रेट, फाइबर, डाययूरेटिक एसिड जैसे गुण पाए जाते हैं।

अश्वगंधा
अश्वगंधा एंटी एनीमिक का काम करती है। इसके साथ ही हीमोग्लोबिन को बढ़ाने का काम करती है। इसके सेवन से थकान, कमजोरी, चक्कर आना और सीने में दर्द जैसी समस्याओं को कम करता है।

Check Also

महिलाएं बालों में मेहंदी कब और कैसे लगाएं, जानिए ये बेहतरीन टिप्स

अक्सर महिलाएं बालों की सफेदी छुपाने के लिए मेहंदी लगाती है या बालों को प्राकृतिक तरीके ...