Home / हेल्थ-फिटनेस / अल्सर में असरदार हैं ये घरेलू नुस्खे, नहीं है कोई साइड इफेक्ट और जल्द मिलेगा आराम

अल्सर में असरदार हैं ये घरेलू नुस्खे, नहीं है कोई साइड इफेक्ट और जल्द मिलेगा आराम

कई बीमारियां ऐसी होती हैं जिनका नाम सुनते ही घबराहट होने लगती हैं। ऐसी ही एक बीमारी अल्सर भी है। आमबोल चाल की भाषा में कहे तो पेट में जब घाव हो जाता है तो उसे अल्सर कहते हैं। पेट में अल्सर होना ना केवल सेहत के लिए खतरनाक होता है बल्कि बहुत तकलीफ दायक भी होता है। अल्सर होने का कारण पेट में एसिड का बढ़ना, चाय, कॉफी का अधिक सेवन करना और एल्कोहल ज्यादा लेना भी हो सकता है। इसके अलावा अल्सर ज्यादा मसालेदार खाने और तेज गर्म पदार्थ का ज्यादातर सेवन करने की वजह से भी होता है। अगर कोई भी व्यक्ति अल्सर पीड़ित है तो उसे तुरंत डॉक्टर से संपर्क करना चाहिए। इसके अलावा कुछ घरेलू नुस्खे अपनाकर भी अल्सर की परेशानी में थोड़ी राहत जरूर मिल सकती है।

Milk

दूध में पानी मिलाकर पीएं

दूध का सेवन एसिडिटी पैदा कर सकता है। इसलिए अगर किसी को अल्सर है तो वो आधे गिलास ठंडे दूध में आधा गिलास पानी मिला लें। ऐसा करने से ना तो एसिडिटी होगी और साथ ही कुछ दिनों में आराम भी मिल जाएगा।

नाशपति खाएं
बहुत ही कम लोगों को इस बात की जानकारी होगी कि नाशपति अल्सर में फायदेमंद होती है। नाशपति में फ्लेवोनॉएड और एंटी ऑक्सीडेंट अधिक मात्रा में होता है। ये सभी अल्सर के लक्षणों को कम करने में मदद करती हैं। अगर रोजाना कोई नाशपति का सेवन करें तो छोटी आंत का अल्सर होने की आशंका कम हो जाती है।

Almond

बादाम भी असरदार
बादाम अल्सर के मरीजों को जरूर देना चाहिए। बादाम को पीसकर ठंडे दूध में मिलाकर दे सकते हैं। इससे कुछ दिनों में ही अल्सर ठीक हो जाएगा।

जरूर खाएं कच्चा और पका केला
केला भी अल्सर के मरीज को जरूर खाना चाहिए। इसमें एंटी बैक्टीरियल गुण होते हैं। ये पेट में एसिड को ठीक करते हैं। अल्सर का मरीज कच्चा और पका दोनों केला खा सकते हैं।

हींग भी लाभदायक
हींग तो पेट के लिए कितना फायदेमंद होता है ये तो आप जानते हैं। लेकिन क्या आपको पता है हींग पेट के अल्सर में भी लाभकारी होता है। अल्सर होने पर हींग को पानी में मिलाकर देना चाहिए। इससे आराम मिलेगा।

Sauf

पोहा और सौंफ को मिलाएं
पोहा और सौंफ को मिलाकर खाना भी अल्सर के रोगियों को देना फायदेमंद होता है। इसके लिए बस आप इन दोनों चीजों को बराबर मात्रा में लें। इसके बाद चूर्ण बना लें। 20 ग्राम चूर्ण को 2 लीटर पानी में घोलकर रख लें और अल्सर के मरीज को पीने के लिए रोजाना दें। इससे अल्सर में आराम मिलेगा।

Check Also

Sendha Namak: बीपी के मरीज भी खा सकते हैं सेंधा नमक, गले में खराश और स्ट्रेस से मिलेगा आराम

नई दिल्ली: चैत्र नवरात्रि (Chaitra Navratri) शुरू हो गई है और अब बहुत से लोग जो ...