Home / धर्म / अब ज्योतिषी की जरूरत नहीं, अपने हाथ की रेखा से खुद जानिए कब मिलेगी आपको सरकारी नौकरी

अब ज्योतिषी की जरूरत नहीं, अपने हाथ की रेखा से खुद जानिए कब मिलेगी आपको सरकारी नौकरी

इस धरती पर मौजूद हर एक व्यक्ति जन्म के साथ ही अपनी हथेली में जीवन, भाग्य हृदय स्वास्थ्य के साथ साथ धन संबंधी रेखाएं भी अपने साथ लेकर आता है। ऐसा कहा जाता है कि अगर आप अपनी हथेली को कभी गौर से देखेंगे तो आपको अपने पूरे जीवन का हाल अपनी हथेलियों में नजर आ जाएगा। अपने हथेलियों को देखकर इस बात को आप पहले ही जान सकते हैं कि आपका किस्मत आपका कितना ज्यादा साथ निभाएगी, इसके साथ ही साथ आपकी आर्थिक स्थिति कैसी रहेगी। आप अपने जीवन में कभी धनवान बनेंगे भी या नहीं। इसके अलावा कई अन्य जानकारियां भी हाथों की हथेलियों को देख कर प्राप्त की जा सकती है। आज हम आपको इस पोस्ट के माध्यम से बताएंगे कि आप अपने जीवन में सरकारी नौकरी है या नहीं.

क्या आपको पता है? हथेली पर बनने वाली सरकारी नौकरी और धनवान होने के संकेतों की बातें आपकी हथेली पर ही लिखी हुई हैं | हम सभी की हथेली पर मुख्य रूप से 3 जगहों पर व्यक्ति के भाग्य, धन और नौकरी के बारे में जानकारी मिलती है | इन्हीं रेखाओं को देखकर ज्योतिष इस बारे में हमें बताते हैं कि क्या हमारे भाग्य में नौकरी है कि नहीं |

शास्त्रों के अनुसार पहला स्थान गुरु का होता है, और यह स्थान व्यक्ति के बुद्धि और विवेक का माना जाता है | इसके बाद दूसरा स्थान न्याय और कर्तव्य के देवता शनि को दर्शाता है | ये रेखा हमें उन्हीं कर्मों के फल देती है जो अच्छे होते हैं | हथेली पर तीसरा स्थान सूर्य देवता का रहता है | अब आपको बता दें कि, जिस किसी के हाथ में भाग्य रेखा से निकलती हुई कोई रेखा शनि और गुरु पर्वत जा कर मिलती हो उस व्यक्ति के जीवन में सरकारी नौकरी के योग होते है | ये रेखा कटी पिटी नहीं होनी चाहिए ऐसा होने पर नौकरी पाने में अर्चन आते हैं |

हस्तरेखा पर विश्वास करना गलत नहीं है लेकिन किस्मत पर एकदम निर्भर होना भी ठीक बात नहीं है | हमें हमेशा ही अपना लक्ष्य पाने के लिए मेहनत करनी चाहिए, और ये बात कभी नहीं भूलनी चाहिए कि भगवान भी उसी की मदद करते हैं जो खुद की मदद करता है | ऐसे में हमें अपना कर्म करते जाना चाहिए और फल समय पर छोड़ देना चाहिए |

Check Also

Kartik purnima 2020: इस सप्ताह है देवोत्थानी एकादशी, कार्तिक पूर्णिमा और प्रदोष व्रत, पढ़ें सप्ताह के व्रत और त्योहार

इस सप्ताह 25 नवंबर को प्रबोधिनी एकादशी, देवोत्थानी एकादशी है। इसी दिन तुलसी विवाह भी होता ...